Russo-Ukrainian War: क्या थम जाएंगे युद्ध? रूस और यूक्रेन के बीच वार्ता जारी, यूक्रेन ने EU से मांगी सदस्यता

यूक्रेन पर रूस के हमले के बीच बने गंभीर हालात (Russo-Ukrainian War) के मद्देनजर यूक्रेन का प्रतिनिधिमंडल बेलारूस के गोमेल पहुंचा है। यहां दोनों पक्षों के बीच बातचीत शुरू हो गई है। रूस और यूक्रेन में युद्ध के बीच वार्ता शुरू हो गई है, लेकिन इसका कोई सकारात्मक परिणाम नहीं निकलता दिख रहा है।  जेलेंस्की राष्ट्रपति ने कहा कि हममें से हर शख्स एक योद्धा है और हम सभी लोग मिलकर जीत हासिल करेंगे। उन्होंने साफ कहा कि बातचीत से समाधान निकलने की उम्मीद कम है, लेकिन हम आत्मसमर्पण नहीं करेंगे।

वर्ल्ड डेस्क. यूक्रेन पर रूस के हमले के बीच बने गंभीर हालात के मद्देनजर यूक्रेन का प्रतिनिधिमंडल बेलारूस के गोमेल पहुंचा है। यहां दोनों पक्षों के बीच बातचीत शुरू हो गई है। रूस और यूक्रेन में युद्ध (Russo-Ukrainian War) के बीच वार्ता शुरू हो गई है, लेकिन इसका कोई सकारात्मक परिणाम नहीं निकलता दिख रहा है।  जेलेंस्की राष्ट्रपति ने कहा कि हममें से हर शख्स एक योद्धा है और हम सभी लोग मिलकर जीत हासिल करेंगे। उन्होंने साफ कहा कि बातचीत से समाधान निकलने की उम्मीद कम है, लेकिन हम आत्मसमर्पण नहीं करेंगे।

Russo-Ukrainian War

यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कहा कि हमारा इरादा रूस के आगे सरेंडर करने का नहीं है। इस विवाद (Russo-Ukrainian War) का हल बातचीत से निकलता नहीं दिख रहा है। 44 वर्षीय नेता ने वीडियो संदेश में यूरोपियन यूनियन से तत्काल यूक्रेन को समूह की सदस्यता देने की मांग की। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य यह है कि हम सभी यूरोपियन लोगों के साथ रहें। उनके साथ बराबरी के हकदार हों। मुझे भरोसा है कि यह बेहतर होगा और संभव है। उन्होंने रूस के हमले में 4 दिनों में 16 बच्चों की मौत हो चुकी है और 45 जख्मी हुए हैं। हमें लगता है कि ये असली यूक्रेनी हीरो हैं।

मिशेल बैचलेट ने भी यूक्रेन में 102 नागरिकों के मारे जाने की पुष्टि की

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के अध्यक्ष मिशेल बैचलेट ने भी यूक्रेन में 102 नागरिकों के मारे जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि इन लोगों में 7 बच्चे भी शामिल हैं। उनका कहना है कि असली आंकड़ा इससे कहीं ज्यादा हो सकता है। जेलेंस्की ने वीडियो संदेश में अपने कड़े तेवर दिखाए। उन्होंने कहा कि यूक्रेन के लोगों ने दुनिया को दिखा दिया है कि हम क्या हैं। रूस ने देख लिया है कि अब वह क्या बनकर रह गया है। एक दौर में कॉमेडियन रहे जेलेंस्की ने अपने संबोधन में रूसी सेना को भी धमकी (Russo-Ukrainian War) भरे अंदाज में कहा कि वे अपने हथियार रख दें और वापस लौट जाएं। यदि उन्हें अपनी जान बचानी है तो फिर यूक्रेन से निकलना होगा।

जेलेंस्की ने कहा, ‘अपने हथियारों को रख दो और बाहर निकल जाओ। अपने कमांडरों पर यकीन न करो। अपने प्रोपेंगेडा फैलाने वालों पर भरोसा न करो। सिर्फ अपनी जान बचाओ।’ यही नहीं जेलेंस्की ने दावा किया है कि यूक्रेन की जवाबी कार्रवाई (Russo-Ukrainian War) में रूस के 4,500 सैनिक मारे गए हैं और बड़े पैमाने पर हथियारों को तबाह कर दिया गया है। रूस ने भी सैनिकों के मारे जाने की बात स्वीकार किया है, लेकिन आंकड़ा जारी नहीं किया है। इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कहा है कि हम उन कैदियों को भी जेल से निकालेंगे, जिन्हें सैन्य अनुभव रहा हो। इन लोगों को युद्ध में भेजा जाएगा।

महाशिवरात्रि पर भोलेनाथ को प्रसन्न करने के करें ये उपाय, पूरी होगी सारी मनोकामना

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button