Uttarakhand: सुरक्षित रेस्क्यू किये गए पांडवसेरा में फंसे ट्रैकर्स, मदद के लिए सेना का हेलीकाप्टर पहुंचा

मध्यमेश्वर-पांडवसेरा ट्रैक पर फंसे सभी टैंकर्स व पोर्टरों का रेस्‍क्‍यू कर लिया गया है। सभी फंसे यात्री लगातार प्रशासन के संपर्क में थे। सोमवार को सुबह के समय...

रुद्रप्रयाग। मध्यमेश्वर-पांडवसेरा ट्रैक पर फंसे सभी टैंकर्स व पोर्टरों का रेस्‍क्‍यू कर लिया गया है। सभी फंसे यात्री लगातार प्रशासन के संपर्क में थे। सोमवार को सुबह के समय सेना के हेलीकाप्टर ने पांडवसेरा के लिए उड़ान भरी। इसके बाद सभी ट्रैकरों व पोर्टरों को सुरक्षित रेस्क्यू कर गौचर हेलीपैड पर लाया गया।

rescue

बता दें कि इससे पहले रविवार को एसडीआरएफ की टीम रेस्क्यू करने पहुंची थी लेकिन उसे सफलता नहीं मिली। दोपहर बाद वायुसेना का हेलीकाप्टर भी सिरसा से जोशीमठ पहुंचा। बताया जा रहा था कि कुल छह लोग फंसे हैं, जिसमें तीन ट्रैकर हैं, जबकि तीन पोर्टर हैं।
मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार को नौ ट्रैकरों के मध्यमेश्वर से 24 किमी दूर पांडवसेरा में फंसे होने की खबर जिला आपदा प्रबंधन कंट्रोल रूम को मिली थी।

इस पर एसडीआरएफ की टीम तत्काल देहरादून से पांडवसेरा के लिए रवाना हुई लेकिन, मौसम खराब की वजह से रेस्क्यू दल के सदस्य वहां नहीं उतर सके। इसके बाद रविवार को भी मौसम खराब होने के चलते उन सभी को रेस्क्यू नहीं किया जा सका।
जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार का कहना है कि ट्रैकर्स से लगातार संपर्क हो रहा था।

सभी ट्रैकर और पोर्टर सुरक्षित थे। वे वहां से लाइव लोकेशन भी भेज रहे थे, फोटो भी शेयर कर रहे थे। उन्होंने बताया कि नौ में से तीन गाइड रविवार को पैदल ही वापस आ रहे हैं, जबकि छह लोगोंं को आज रेस्‍क्‍यू कर लिया गया है।

Related Articles

Back to top button