Uttarakhand: चारधाम यात्रा के लिए उमड़ी भीड़, सात दिन के लिए लगी ऑफलाइन पंजीकरण रोक

पर्यटन विभाग ने चारधाम यात्रा के ऑफलाइन पंजीकरण पर एक हफ्ते के लिए रोक लगा दी है। अब जो भी यात्री ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन कराएंगे...

देहरादून। पर्यटन विभाग ने चारधाम यात्रा के ऑफलाइन पंजीकरण पर एक हफ्ते के लिए रोक लगा दी है। अब जो भी यात्री ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन कराएंगे, उनकी बुकिंग एक हफ्ते बाद होगी। बता दें कि अब तक यात्री पूरे सीजन के किसी भी दिन के लिए ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन करा रहे थे लेकिन इस साल ऐसा नहीं होगा। दरअसल आने वाले महीनों का आफलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर यात्रियों के धामों में पहुंचने की शिकायतों के बाद यह निर्णय लिया गया है।

CHARDHAM YATRA

पर्यटन सचिव, दिलीप जावलकर का कहना है कि कुछ लोग ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन के जरिये अगले महीनों के स्लॉट की बुकिंग करा रहे हैं, लेकिन तीर्थयात्रा के लिए उसी रवाना हो रहे हैं। रास्ते में पुलिस रजिस्ट्रेशन की जांच के दौरान ऐसे वाहनों पर रोक लगा है।

ऐसे में श्रद्धालुओं को बिना वजह परेशान होना पड़ रहा है। साथ ही धामों में भी भीड़ भी बढ़ रही है। इससे बचने के लिए तय किया गया है कि अब केवल सात दिन के भीतर का ही ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन किया जायेगा। हालांकि सभी स्थानों पर फिजिकल रजिस्ट्रेशन काउंटर बने रहेंगे।

सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, ट्रेवल एजेंट, हरिद्वार, ऋषिकेश के पंजीकरण केंद्रों में जून, जुलाई, अगस्त के महीनों की बुकिंग करा रहे हैं और यात्री इसी स्लिप को लेकर यात्रा के लिए रवाना हो जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि जब धामों में तय संख्या से यात्री पहुंचे, तो ट्रेवल एजेंटों का यह गोलमाल सामने आया।

बता दें कि उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की तरफ से ऑनलाइन और फिजिकल काउंटरों के माध्यम से श्रद्धालुओं पंजीकरण कराया जा रहा है। साथ ही तीर्थयात्रियों को यूटीडीबी की आधिकारिक वेबसाइट पर भी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। इसके साथ ही ऋषिकेश, हरिद्वार, उत्तराखंड की सीमा समेत यात्रा मार्ग पर कुल 18 से 20 केंद्रों में ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button