उत्तराखंड: पीएम के केदारनाथ दौरे का कांग्रेस ऐसे देगी जवाब, करेगी ये ख़ास काम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच नवंबर को केदारनाथ धाम दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान वह बाबा केदारनाथ के दर्शन कर उनकी पूजा-अर्चना करेंगे।

Spread the love

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पांच नवंबर को केदारनाथ धाम दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान वह बाबा केदारनाथ के दर्शन कर उनकी पूजा-अर्चना करेंगे। इधर कांग्रेस ने भी उन्हें जवाब देने की प्लानिंग कर ली है। वह भी एक खास अंदाज में शिव पूजन करेगी। कांग्रेस का आरोप है कि केदारनाथ धाम प्रधानमंत्री की आस्था का केंद्र फिर भी यहाँ विकास और जरूरी निर्माण कार्य बीते पांच वर्षों से अटके हुए हैं।

pm modi

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता हरीश रावत ने बताया कि पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के पवित्र जल और गंगाजल से राज्य के हर जिले में 12 शिवालयों में जलाभिषेक किया जाएगा। इसके साथ ही कांग्रेस सरकार में गायक कैलाश खेर रचित ‘जय केदारा’ भजन गीत गाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी केदारनाथ पधारें, बार-बार पधारें। यह उनकी श्रद्धा का विषय है लेकिन केदारनाथ जी के नाम पर राजनीति की मार्केटिंग का उत्तर तो देना ही पड़ेगा।

रावत का कहना है कि आज की सत्ता ने केदारनाथ धाम का राजनैतिक लाभ उठाने का प्रयास तो किया, मगर उन विकास कार्यों को अंजाम नहीं दिया जो केदार पुरी की सुरक्षा और सुगमता के लिए अत्यंत जरूरी है। बता दें कि सुमेरु पर्वत के नीचे के संवेदनशील क्षेत्र में संभावित बाढ़ से सुरक्षा की महत्वपूर्ण लेयर का निर्माण अभी भी अटका हुआ है।

मंदाकिनी नदी से केदार पुरी का तल्ली लिंचोली तक हो रहा भू-क्षरण रोकने का प्रोजेक्ट भी अधूरा ही है। भैरव मंदिर पहाड़ी की सुरक्षा का काम भी अधर में है। रावत ने कहा कि गौरी कुंड के पुराने इतिहास को पुनर्स्थापित करने पर प्रस्तावित काम शुरू भी नहीं हुआ है। भीमबली-लिंचोली-केदार पुरी रोपवे और चौमासी मोटर मार्ग का निर्माण की डीपीआर भी अब तक केंद्र सरकार दबाए हुए है। मालूम हो कि केदारनाथ धाम के कपाट छह नवंबर को बंद हो जायेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button