उत्तराखंड: आपदा पीड़ितों से मिलने चंपावत पहुंचे CM धामी, प्रशासन को दिए कई निर्देश

उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज आपदा प्रभावित जिला चम्पावत के हालात का जायजा लिया। उन्होंने चम्पावत के तेलवाडा में जाकर...

Spread the love

चम्पावत, देहरादून। उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज आपदा प्रभावित जिला चम्पावत के हालात का जायजा लिया। उन्होंने चम्पावत के तेलवाडा में जाकर मृतकों के परिजनों से मुलाकात की और उनके प्रति संवेदना व्यक्त की। मुख्यमंत्री ने दिवंगतों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना भी की। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार उनकी पीड़ा को समझती है और इस मुश्किल घड़ी में वह पीड़ितों व आम जनमानस के साथ खड़ी है।

CM DHAMI

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की ओर से पीड़ितों को हर संभव सहायता प्रदान की जाएगी। उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देश दिए कि जनपद में आपदा प्रभावितों को मुआवजा देने की कार्रवाई जल्द से जल्द पूरी की जाए। इसके बाद मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस में समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक की और स्थिति की समीक्षा की। बैठक में उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि राहत एवं बचाव कार्यों में लापरवाही न बरती जाये। साथ ही बचाव व राहत कार्यों में तेजी से काम किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि शीघ्र, अति शीघ्र आपदा प्रभावित इलाकों में राशन व्यवस्था समेत मूलभूत आवश्यकताओं की व्यवस्था की जाए।

उन्होंने जिला प्रशासन को निर्देश दिए कि आपदा से निपटने के लिए उपकरणों की आवश्यकता है तो क्रय कर लिए जाएं। उन्होंने निर्देश दिए की जिन परिवारों को विस्थापित किया जाना है, उनके लिए स्थान का जल्द से जल्द चयन कर उन्हें विस्थापित किया जाए। सीएम ने कहा की युद्ध स्तर पर कार्य करें। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि आपदा प्रभावित क्षेत्रों का भू सर्वेक्षण किया जाए जिसमे एडीएम को उसका नोडल अधिकारी बनाया जाए। प्रशासन को निर्देश दिए कि आपदा ग्रस्त लोगों को हर सम्भव सहयोग दिया जाए।

CM DHAMI

उन्होंने प्रशासन को निर्देश दिए कि जनपद में संचार, सड़क, बिजली तथा पानी जैसी मूलभूत आवश्यकताओं समेत सभी व्यवस्थाओं को जल्द से जल्द दुरुस्त किया जाए।बैठक में जिलाधिकारी विनीत तोमर ने जनपद में राहत कार्यों के बारे में जानकारी दी। इस दौरे पर मुख्यमंत्री के साथ आपदा प्रबंधन मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, विधायक पूरण फर्त्याल, कैलाश गहतोड़ी तथा स्थानीय जनप्रतिनिधि समेत अन्य मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button