उत्तराखंड स्थापना दिवस प्रोग्राम में हंगामा, भाजपा विधायक और राज्य आंदोलनकारियों के मध्य हुई तू-तू-मैं-मैं

रुद्रपुर॥ किच्छा में उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस के प्रोग्राम में भारतीय जनता पार्टी एवं राज्य आंदोलनकारी (कांग्रेस नेता) आमने-सामने आ गए और मामला हाथा-पाई तक पहुंच गया।

Argument between BJP MLA and state agitators

पुलिस अफसरों ने मौक पर आकर किसी प्रकार मामले को ठंडा कराया। इसके बाद कुछ प्रदेश आंदोलनकारी प्रोग्राम का बहिष्कार कर चले गए। भाजपा एमएलए राजेश शुक्ला और राज्य आंदोलनकारी एवं कांग्रेस के जिला अध्यक्ष नारायण सिंह बिष्ट आमने-सामने आ गए। दोनों में बहुत ज्यादा बहस हुई।

मामला ठंडा कराने के लिए अफसरों को मध्य में आना पड़ा। दरअसल, हुआ ये कि किच्छा तहसील में स्थापना दिवस मनाया जा रहा था। सभी राज्य आंदोलनकारियों को सम्मानित करने के लिए बुलाया गया था। प्रोगाम में राज्य आंदोलनकारियों का संबोधन चल रहा था।

प्रोगाम में लगभग 1.5 घंटे देरी से पहुंचे एमएलए राजेश शुक्ला के पहुंचने पर संबोधन का प्रोगाम रोक दिया गया, जिसका विरोध राज्य आंदोलनकारियों ने किया। इसके बाद जिला प्रशासन ने सभी को सम्मानित करने के बाद संबोधन प्रोगाम को दोबारा शुरू करने को कहा। मगर आंदोलनकारी अपनी बात पर डटे रहे।

इस दौरान प्रदेश आंदोलनकारी व कांग्रेसी नेता ने एमएलए राजेश शुक्ला पर टिप्पणी कर दी। उन्होंने इल्जाम लगाते हुए कहा कि वह ऐसे एमएलए से सम्मानित नहीं होना चाहते है, जो खुद उत्तराखंड प्रदेश बनने का विरोधी रहा हो।

Related Articles

Back to top button