UP Police: पूर्व सपा विधायक और भाई की गिरफ्तारी के लिए ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही पुलिस

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ सरकार 2.0 लगातार एक्शन में है। एटा पुलिस ने गैंगस्टर में लंबे समय से फरार चल रहे समाजवादी पार्टी...

एटा। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ सरकार 2.0 लगातार एक्शन में है। एटा पुलिस ने गैंगस्टर में लंबे समय से फरार चल रहे समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक रामेश्‍वर सिंह यादव और उनके भाई पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव की गिरफ्तारी के लिए उनके घरों पर दबिश दी। ताबड़तोड़ छापामारी कर उनके घरों की तलाशी ली गई। हालांकि तलाशी में दोनों में से कोई भी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा।

UP POLICE

बताया जा रहा है कि रविवार की दोपहर में सीओ सिटी कालू सिंह मय पुलिस फोर्स पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव के घर पहुंचे और दोनों भाइयों को तलाशने लगे। घर पर सिर्फ जुगेंद्र सिंह यादव का बेटा मिला था। पुलिस ने उससे पूछताछ की। करीब आधा घंटे तक पूछताछ करने के बाद पुलिस की टीमें वापस चली गईं। इसके बाद पुलिस की टीम उनके गांव अमृतपुर रघुपूर पहुंची। यहां भी दोनों भाई नहीं मिले।

गौरतलब है कि कोतवाली नगर में सपा के पूर्व विधायक रामेश्वर सिंह यादव और पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई की जा रही है। मामले की रिपोर्ट कोतवाली नगर प्रभारी ने दर्ज कराई थी जिसकी विवेचना कोतवाली देहात प्रभारी को सौंपी गई है।

बताया जा रहा है कि दोनों भाइयों के खिलाफ सरकारी और गैर सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा करने का मामला पंजीकृत किया गया है। एक मामले की रिपोर्ट एक दरोगा ने कोतवाली की जमीन पर कब्जा करने की दर्ज कराई थी जबकि दूसरी रिपोर्ट लेखपाल ने सरकारी जमीन पर कब्जा करने की दर्ज कराई थी। दोनों भाइयों कि खिलाफ तीन मुकदमे दर्ज किये गए हैं।

बता दें कि सीओ सिटी के नेतृत्व में दी गई दबिश में कोतवाली देहात, कोतवाली नगर, थाना बागवाला और महिला थाना का पुलिस बल साथ रहा। सीओ कालू सिंह ने बताया कि पूर्व विधायक और पूर्व जिपं अध्यक्ष के प्रेमनगर स्थित आवास पर दबिश दी गई। इसके अतिरिक्तअलीगंज क्षेत्र में गांव अमृतपुर व रघुपुर में भी दबिश दी गई लेकिन दोनों भाई नहीं मिले।

Related Articles

Back to top button