UP Election 2022: अखिलेश-जयंत के बीच चली लंबी मुलाकात, लेकिन नहीं बन पाई सीट बंटवारे पर बात

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सपा मुखिया अखिलेश यादव और राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया जयंत चौधरी की पार्टी के बीच भले ही गठबंधन का ऐलान हो गया है। लेकिन गुरुवार को अखिलेश यादव और जयंत चौधरी के बीच घंटों चली लंबी मुलाकात के बाद भी सीट को लेकर अभी भी बात फाइनल नहीं हो सकी है।

Spread the love

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर सपा मुखिया अखिलेश यादव और राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया जयंत चौधरी की पार्टी के बीच भले ही गठबंधन का ऐलान हो गया है। लेकिन गुरुवार को अखिलेश यादव और जयंत चौधरी के बीच घंटों चली लंबी मुलाकात के बाद भी सीट को लेकर अभी भी बात फाइनल नहीं हो सकी है।

गुरुवार को सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने आरएलडी प्रमुख जयंत चौधरी से लखनऊ में लोहिया ट्रस्ट के कार्यालय में मिले। अखिलेश यादव से लम्बी वार्ता करने के बाद जयंत चौधरी लोहिया ट्रस्ट से पिछले गेट से निकले और नई दिल्ली रवाना हो गए। माना जा रहा है कि सीटों पर पेंच फंसने के कारण ना तो अखिलेश यादव गठबंधन पर कुछ बोलने को तैयार है और ना ही जयंत चौधरी।

चर्चा है कि पश्चिमी यूपी में जयंत चौधरी अधिक सीट चाहते हैं जबकि उनकी इच्छा उत्तर प्रदेश में अपनी पार्टी के सिंबल पर 40 प्रत्याशी उतारने की है। जयंत चौधरी 40 से अधिक सीट चाहते हैं, लेकिन सपा इसमें तैयार नहीं है। गुरुवार को जयंत चौधरी ने फिर अखिलेश से मुलाकात की। माना जा रहा है कि दोनों पार्टियों में गठबंधन के तहत करीब 36 सीटों पर समझौता हो रहा है। इनमें से कुछ सीटों पर सपा के उम्मीदवार रालोद के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे, जबकि कुछ सीटों पर रालोद के प्रत्याशी सपा के चुनाव चिह्न पर मैदान में उतरेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button