UK Weather: इन जिलों में IMD का अलर्ट, खतरनाक हुईं नदियां और नाले, थमी लोगों की धड़कनें

उत्तराखंड में भारी बारिश का कहर अभी थमता हुआ नहीं नजर आ रहा है। मौसम विभाग ने आज 21 जुलाई को राज्य के 7 जिलों में...

देहरादून। उत्तराखंड में भारी बारिश का कहर अभी थमता हुआ नहीं नजर आ रहा है। मौसम विभाग ने आज 21 जुलाई को राज्य के 7 जिलों में मूसलाधार बारिश होने की संभावना जाहिर की है। बागेश्वर ज़िले के लिए भी ऑरेंज अलर्ट जारी है और यहां सरयू नदी का जलस्तर खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। हालांकि प्रशासन ए​हतियात बरत रहा है। उधर चमोली ज़िले में मौसम साफ होने और धूप खिलने के साथ ही हेमकुंड साहिब यात्रा भी बहाल कर दी गई है लेकिन फूलों की घाटी जाने वालों को अभी इंतज़ार करना पड़ेगा। दरअसल यहां कल अतिवृष्टि की वजह से फंसे 50 से अधिक पर्यटकों को सुरक्षित भी निकाला गया।

weather forecast

मौसम विभाग ने राज्य के कई ज़िलों में आज गुरुवार को भारी बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है।रुद्रप्रयाग, चमोली, नैनीताल में अच्छी बारिश के अनुमान के साथ ही बागेश्वर, उत्तरकाशी और पिथौरागढ़ में भारी बरसात होने की चेतावनी जारी की गई है। आईएमडी ने यात्रियों को सतर्क रहने की सलाह भी दी है।

बता दें कि राज्य भर में 15 स्टेट हाईवे समेत कुल 175 मार्ग अभी भी ठप बताए जा रहे हैं। उधर बागेश्वर में आज स्कूल, कॉलेजों और आंगनबाड़ी केंद्रों को बंद रखने का आदेश जारी किया गया है और पुलिस व प्रशासन को अलर्ट मोड रखा गया है। बागेश्वर के लोगों को नदी किनारे नहीं जाने की हिदायत दी गई है और उफान मार रही सरयू नदी के किनारे जल पुलिस को तैनात कर दिया गया है।

हेमकुंड यात्रा जारी, वैली में बंद

चमोली में मौसम विभाग द्वारा अलर्ट जारी करने के बाद से प्रशासन सतर्क है। वहीं गुरुवार सुबह मौसम साफ होने के बाद हेमकुंड साहिब की यात्रा फिर से सुचारु कर दी गई है। 500 से अधिक श्रद्धालु हेमकुंड साहिब के लिए रवाना किए गए लेकिन फूलों की घाटी के पैदल मार्ग पर लैंडस्लाइड होने से पर्यटकों को रोक दिया गया है। बताया जा रहा है कि रास्ता ठीक होने के बाद फूलों की घाटी भी पर्यटकों के लिए खोल दी जाएगी।

Related Articles

Back to top button