पर्यटकों को पसंद आ रहा नैनीताल का Zoo, एक महीने पहुंचे 43000 से ज्यादा सैलानी

उत्तराखंड के नैनीताल जिले में इस साल गर्मियों का टूरिस्ट सीजन काफी अच्छा रहा. कोरोना काल के बाद सेऐसा पहली बारे हुआ है...

नैनीताल। उत्तराखंड के नैनीताल जिले में इस साल गर्मियों का टूरिस्ट सीजन काफी अच्छा रहा. कोरोना काल के बाद सेऐसा पहली बारे हुआ है जब यहां इतनी बड़ी तादाद में पर्यटक सरोवर नगरी का दीदार करने पहुंचे। सैलानियों की बड़ी संख्या की वजह से जहां स्थानीय व्यापारियों के चेहरे खिले हुए नजर आ रहे हैं। वहीं, नैनीताल के टूरिस्ट स्पॉट्स की बात करें तो जून महीने में 43,000 से अधिक पर्यटकों ने नैनीताल के मशहूर गोविंद बल्लभ पंत चिड़ियाघर का दीदार किया।

Govind Ballabh Pant Zoo

चिड़ियाघर में मौजूद बाघ और तेंदुआ यहां आने वाले सैलानियों की पहली पसंद बने रहे। इनकी मात्र एक झलक पाने के लिए पर्यटक इनके बाड़ों के बाहर घंटों इंतजार करते देखें गए। जू रेंजर अजय रावत का कहना है कि जून में 43,600 से अधिक पर्यटक चिड़ियाघर पहुंचे। हर हफ्ते बाकी दिनों के अपेक्षा रविवार के दिन पर्यटक ज्यादा संख्या में आये। पिछले महीने में एक दिन में 2440 पर्यटक आए जो जून महीने में सबसे अधिक संख्या है।

उन्होंने आगे बताया कि जहां कोरोना काल में नैनीताल में पर्यटन पूरी तरह से बंद था, उस हिसाब से ये सीजन काफी अच्छा रहा है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि साल 2022 पूरा होने तक करीब दो लाख तक पर्यटक चिड़ियाघर की सैर करेंगे। बता दें कि नैनीताल स्थित हाई एल्टीट्यूड चिड़ियाघर में बाघ, तेंदुए, भालू, घुरड़, रेड पांडा समेत वन्य जीवों की 207 प्रजातियां मौजूद हैं।

हालांकि अधिकतर पर्यटक बाघ, तेंदुए और भालू को देखने के लिए ही ज्यादा उत्सुक रहते हैं। वहीं रेड पांडा और सफेद मोर भी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है। अब चिड़ियाघर प्रशासन यहां मारखोर और हिमालयन थार को लाने पर भी विचार किया जा रहा है। उम्मीद है जल्द ही इन्हे यहां ला दिया जायेगा।

Related Articles

Back to top button