Bholenath की होगी विशेष कृपा, जिनके हाथ में होगा यह निशान, आप भी चेक कर लें अपना हाथ

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार जिनके हाथ की हथेली में चंद्रमा होता है उनपर भगवान भोलेनाथ (Bholenath) की विशेष कृपा होती है। हथेली का यह पर्वत मन की एकाग्रता और व्यसन का प्रतीक है। चंद्रमा शुभ होने पर व्यक्ति दार्शनिक बनता है। हथेली की रेखाओं और विशेष चिन्हों से भविष्य का पता चलता है। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हाथ की हथेली में स्थित चंद्रमा पर्वत मन का कारक होता है। चंद्र पर्वत से भी व्यक्ति की मानसिक स्थिति का पता चलता है। साथ ही उनकी मानवीय कल्पना भी प्रकट होती है। जानिए हस्तरेखा के अनुसार कैसे हथेली का चंद्रमा पर्वतीय जीवन को प्रभावित करता है।

Bholenath - Lord

ऐसे लोगों पर रहती है भगवान शिव (Bholenath) की विशेष कृपा

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हाथ में चंद्रमा मन का पर्वत है। मन की एकाग्रता और व्यसन को भी चंद्र पर्वत से सीखा जा सकता है। हाथ की हथेली में चन्द्र पर्वत खड़ा हो तो शुभ फल देता है। वहीं अगर यह बहुत ज्यादा उभरा हुआ हो तो यह अशुभ फल देता है। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार सामान्य परिस्थितियों में चंद्रमा पर्वत को शुभ फल देता है। वहां रौंदा गया चंद्र पर्वत अशुभ माना जाता है।

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार चंद्रमा का पर्वत बलवान हो तो मन शांत रहता है। साथ ही ऐसे लोगों का वैचारिक स्तर भी काफी अच्छा होता है। इसके अलावा ऐसे लोग दार्शनिक भी होते हैं। साथ ही जिन लोगों का चंद्रमा बहुत अच्छा होता है, उन्हें किसी भी घटना का पूर्वाभास हो जाता है। (Bholenath)

हाथ की हथेली में चंद्र पर्वत अच्छा हो तो लोग काम पर ध्यान केंद्रित करते हैं। ऐसे लोगों के अपनी मां के साथ अच्छे संबंध होते हैं। इसके अलावा ऐसे लोग किसी भी तरह की लत में नहीं पड़ते हैं। यदि चंद्रमा बहुत ऊँचे स्थान पर हो तो मन में कई तरह के विचार आते रहते हैं। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार आध्यात्मिक उन्नति के लिए भी शुभ चंद्रमा आवश्यक है। जिन लोगों की हथेली में शुभ चंद्रमा होता है वे भगवान शिव के उपासक होते हैं। साथ ही ऐसे लोगों को भगवान शिव की विशेष कृपा प्राप्त होती है। (Bholenath)

Vastu Shastra के इस उपाय से बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा, घर के मुख्य द्वार पर इन चीजों को रखने से होती है धन की वृद्धि

Related Articles

Back to top button