उत्तराखंड में सामने आया ‘मित्र पुलिस’ का क्रूर चेहरा, महिला को दिए बिजली के झटके

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में मित्र पुलिस का हैवानियत भरा चेहरा देखकर कर कोई खौफ खा रहा है। आरोप है कि देहरादून के जोगीवाला...

देहरादून।  उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में मित्र पुलिस का हैवानियत भरा चेहरा देखकर कर कोई खौफ खा रहा है। आरोप है कि देहरादून के जोगीवाला पुलिस स्टेशन में एक महिला को बिजली के झटके दिए गए है जिसकी वजह से उसकी हालत गंभीर बनी हुई  है।  ऐसे में इलाज के लिए उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा  है।

Electric shock to woman

महिला के परिवार वालों ने मामले की शिकायत उच्चाधिकारियों से की। इसके बाद तत्काल एक्शन लेते हुए थाना प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि आरोपी महिला पर एक रिटायर्ड वैज्ञानिक के घर में चोरी करने का आरोप लगाया था। ये महिला उनके घर पर साफ-सफाई का काम करती थी।

वाकया मंगलवार को जोगीवाला थाने का बताया जा रहा है। पुलिस अफसरों ने बुधवार को बताया कि थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है। घटना के लेकर मिली जानकारी के अनुसार, महिला का नाम मंजू है।   ये महिला मोहकमपुर इलाके में सेवानिवृत्त वैज्ञानिक देवेंद्र ध्यानी के घर में काम करती थी।

बताया जा रहा है कि 14 मई को जब देवेंद्र ध्यानी और उनका परिवार एक शादी में शामिल होने के लिए दिल्ली गया था, उसी बीच घर में चोरी हो गई थी। इस मामले में मंजू को पूछताछ के लिए जोगीवाला थाने लाया गया, जहाँ उसे बिजली के झटके दिए गए।  मंजू के साथ थाने  गए उसके पति ने आरोप लगाया कि पुलिसकर्मियों ने उसकी पत्नी को जूते और बेल्ट से पीटा, उसे बिजली के झटके दिए और गाली-गलौज भी की।

बाद में पुलिस कर्मियों ने गंभीर हालत में मंजू को घर लाकर छोड़ दिया।  इसके बाद उसके परिजन उसे अस्पताल ले गए। उसका इलाज कोरोनेशन अस्पताल में चल रहा है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खंडूरी ने कहा कि जोगीवाला थाना प्रभारी दीपक गैरोला को घटना के सिलसिले में निलंबित कर दिया गया है और आगे की जांच की जा रही है।

Related Articles

Back to top button