…तो इसलिए काट दिए जायेंगे 2,200 पेड़, बिजली के पोल और पानी की लाइनें भी हटाई जाएंगी

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में रिंग रोड के चौड़ीकरण का काम जल्द ही शुरू हो सकता है। इस काम को शुरू के लिए करीब 2,200 पेड़ों को...

देहरादून। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में रिंग रोड के चौड़ीकरण का काम जल्द ही शुरू हो सकता है। इस काम को शुरू के लिए करीब 2,200 पेड़ों को काटे जाने की भी प्लानिंग है। इसके साथ ही, 400 पेड़ों को हटाकर कही और लगाया जायेगा। बिजली के पोल और पानी की लाइनों को भी शिफ्ट करने की करने की भी प्रक्रिया शुरू हो गई है।

ring road

बताया जा रहा है कि जोगीवाला से रिंग रोड-लाडपुर, सहस्रधारा क्रॉसिंग से कुल्हान तक 14 किमी लंबी सड़क के चौड़ीकरण की मंजूरी एक साल पहले ही मिल गई थी। इस काम के लिए सेंट्रल रोड फंड यानी सीआरएफ से 77 करोड़ रुपये आवंटित कर दिए गए थे। बता दें कि इस पूरी सड़क को फोरलेन बनाया जाना है, लेकिन बजट आवंटित होने के बाद भी अभी तक काम शुरू नहीं हो पाया था।

रायपुर के विधायक उमेश शर्मा काऊ का कहना है कि कुछ पेड़ सड़क चौड़ीकरण की जद में आ रहे हैं। ऐसे में इन्ही पेड़ों को काटने की अनुमति लेने में कुछ समय लगा है। अब इसकी अनुमति मिल गई है। साथ ही, बिजली के पोल और पानी की लाइनें भी शिफ्ट करनी होंगी। उन्होंने कहा कि बिजली के पोल शिफ्ट करने के लिए भी लोक निर्माण विभाग ने ऊर्जा निगम को बजट दे दिया है। वहीं, पानी की लाइनें शिफ्ट करने के लिए बजट देने की तैयारी की जा रही है।

उन्होंने कहा इस सड़क के फोरलेन हो जाने से शहर में वाहनों का दबाव कम हो जाएगा। यह सड़क मसूरी के लिए बाईपास के तौर पर इस्तेमाल होती है। ऐसे में ऋषिकेश की ओर से आने वाले पर्यटक जोगीवाला से लाडपुर-आईटी पार्क होते हुए मसूरी जा सकते हैं लेकिन, अभी सड़क की बदहाल हालत की वजह से मसूरी के पर्यटक इस रोड से आवाजाही करने से बचते हैं। सड़क फोरलेन होने पर मसूरी का ट्रैफिक यहां डायवर्ट हो जाएगा जिससे शहर में लगने वाले जाम से निजात मिल जाएगी।

Related Articles

Back to top button