Shivpal Yadav ने मतदाताओं से की अपील, कहा इस बार साइकिल पर इतने वोट दो कि नया रिकार्ड बन जाए, …और कर दिया ये ऐलान

शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Yadav) ने अपने चुनावी भ्रमण की शुरुआत करते हुए लोगों से वादा किया कि समाजवादी पार्टी की सरकार बनते ही रोजगार और सरकारी नौकरी के लिए कानून बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं को बढ़ी हुई समाजवादी पेंशन योजना बहाल की जाएगी।

इटावा। समाजवादी पार्टी के चुनाव चिन्ह पर जसवंतनगर विधानसभा सीट से चुनाव मैदान में उतरने वाले प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) प्रमुख शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) ने कहा है कि इस बार साइकिल के निशान पर इतने वोट डाले जाने चाहिए कि जीत का अंतर 2 लाख से ऊपर निकल जाए। समाजवादी पार्टी के सिंबल साइकिल चुनाव चिन्ह पर इटावा की जसवंतनगर से छठवीं बार विधानसभा पहुंचने के लिए चुनाव लड़ रहे शिवपाल सिंह यादव ने कहा जीत का अंतर इस बार सबसे अधिक होगा। (Shivpal Singh Yadav) Shivpal Yadav

शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Yadav) ने अपने चुनावी भ्रमण की शुरुआत करते हुए लोगों से वादा किया कि समाजवादी पार्टी की सरकार बनते ही रोजगार और सरकारी नौकरी के लिए कानून बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं को बढ़ी हुई समाजवादी पेंशन योजना बहाल की जाएगी। महंगी बिजली से राहत देने के लिए हर परिवार को 300 यूनिट बिजली हर महीने फ्री मिलेगी। (Shivpal Singh Yadav)

किसानों को बुवाई के समय खाद नहीं मिल सका – Shivpal Yadav

Shivpal Yadav ने भाजपा सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए कहा कि किसानों को बुवाई के समय खाद नहीं मिल सका। उपज का समर्थन मूल्य नहीं मिला। किसानों की आमदनी दूनी करने का दावा भी खोखला साबित हो गया है। वहीं, महंगाई के कारण आम आदमी का जीना मुश्किल हो गया है। शिवपाल यादव ने कहा कि जीएसटी स्लैब के कारण छोटे-छोटे व्यापारियों का व्यापार ठप हो गया है। उन्होंने कहा समाजवादी सरकार बनते ही सभी समस्याओं का कारगर हल निकाला जाएगा। (Shivpal Singh Yadav)

जनसंपर्क सभाओं में शिवपाल सिंह यादव ने मतदाताओं से साइकिल के निशान पर मुहर लगाने की अपील की। उन्होंने कहा कि इस बार जसवंतनगर विधानसभा को वोटिंग में नंबर बन बनाना है। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि इस बार साइकिल के निशान इतने वोट मिलने चाहिए कि जीत का अंतर 2 लाख वोट से पार हो जाए। (Shivpal Singh Yadav)

Teacher Appointment मामले में बड़ी खबर, हाईकोर्ट में सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित

Related Articles

Back to top button