News Nasa चेतावनी: पृथ्वी के बेहद निकट से गुजरेगा विशाल एस्टेरॉयड, टकराने की भी है आशंका

अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (News Nasa) ने चेतावनी दी है कि आज रात एक बेहद विशाल एस्टेरॉयड पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश करेगा। नासा का कहना है कि ये एस्टेरॉयड (Asteroid) पेरिस के एफिल टॉवर से भी बड़ा होगा।

नैनीताल। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (News Nasa) ने चेतावनी दी है कि आज रात एक बेहद विशाल एस्टेरॉयड पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश करेगा। नासा का कहना है कि ये एस्टेरॉयड (Asteroid) पेरिस के एफिल टॉवर से भी बड़ा होगा। आसान तरीके से समझें तो इसकी चौड़ाई उत्तर प्रदेश के आगरा के ताज महल जितनी हो सकती है। 2021 एनवाई-1 नाम का यह एस्टेरॉयड (Asteroid) लगभग तीन सौ मीटर लंबा है।

Asteroid - News Nasa

इस एस्टेरॉयड (Asteroid) को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (News Nasa) ने पृथ्वी के लिए संभावित खतरे की श्रेणी में रखा है। यह एस्टेरॉयड धरती से सिर्फ 14 लाख किलोमीटर की दूरी से गुजरेगा। बता दें के चंद्रमा, पृथ्वी से 3,84,403 किलोमीटर की दूरी पर है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि एस्टेरॉयड पृथ्वी के कितने निकट से होकर गुजरेगा।

पृथ्वी की कक्षा में दाखिल होते ही रफ्तार 900 से 1000 किलोमीटर प्रति घंटा 

वैज्ञानिकों का कहना है कि पृथ्वी की कक्षा में दाखिल होते ही इस एस्टेरॉयड (Asteroid) की रफ्तार 900 से 1000 किलोमीटर प्रति घंटा हो जाएगी। ऐसे में इसकी पृथ्वी से दूरी और भी कम हो सकती है। इस एस्टेरॉयड (Asteroid) के बारे में बात करते हुए नैनीताल स्थित आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान (एरीज) के पब्लिक आउटरीच कार्यक्रम प्रभारी डॉ.वीरेंद्र यादव ने बताया कि इस पर वैज्ञानिक लंबे समय से नजर बनाए हुए थे। (News Nasa)

22 सितंबर यानी आज की रात यह पृथ्वी के बेहद निकट गुजरेगा। नासा (News Nasa) ने ऐसे 22 एस्टेरॉयड (Asteroid) को पृथ्वी के लिए बेहद खतरनाक की श्रेणी में रखा है। दरअसल, वैज्ञानिकों को आशंका है कि यह पृथ्वी से टकरा सकते हैं। यह इस माह पृथ्वी के समीप से गुजरने वाला दूसरा एस्टेरॉयड (Asteroid) है।

Uttarakhand News: धान खरीद को लेकर सरकार के दिशा निर्देश जारी, मुख्य सचिव ने कहा कि…

Uttarakhand : मसूरी में माल रोड पर अब नहीं मिलेगा गाड़ियों को प्रवेश, बनाये गए ये नए नियम

उत्तराखंड में आज से खुल गए एक से पांचवी तक के स्कूल, करना होगा कोविड प्रोटोकाल का पालन

Related Articles

Back to top button