नेपाल के कब्जे में है भारत की इतनी जमीन, बन चुके हैं पक्के मकान और झोपड़ियां, अब वन विभाग ने उठाया ये कदम

भारत-नेपाल बॉर्डर पर भारतीय जमीन पर वर्षों से नेपाल का अतिक्रमण है जो लगातार बढ़ता जा रहा है। नेपाल अब तक भारत...

चम्पावत। भारत-नेपाल बॉर्डर पर भारतीय जमीन पर वर्षों से नेपाल का अतिक्रमण है जो लगातार बढ़ता जा रहा है। नेपाल अब तक भारत की पांच हेक्टेयर भूमि पर अतिक्रमण कर चुका है। इसकी रिपोर्ट सीमा सुरक्षा बल (एसएसबी) और वन विभाग ने शासन और गृह मंत्रालय को भेजी है। वन विभाग द्वारा भेजी गई रिपोर्ट के अनुसार टनकपुर की शारदा रेंज से लगी भारत-नेपाल सीमा के शारदा टापू सहित ब्रह्मदेव में कई स्थानों पर नेपाल की तरफ से 30 सालों से अतिक्रमण किया जा रहा है।

Encroachment Indo Nepal Border
बताया जा रहा है कि साल 1995 से पहले ही भारत की भूमि पर अवैध रूप से कब्जा होता आ रहा और अब तक भारतीय वन क्षेत्र की लगभग पांच हेक्टेयर जमीन पर नेपाल अतिक्रमण कर चुका है। इस जमीन को नेपाल शुरू से ही अपना बताते आ रहा है। इस भूमि को लेकर कई बार सीमा विवाद भी हो चुका है। इस अतिक्रमण वाली जगहों पर नेपाल के लोगों ने पक्के मकानों के साथ ही अस्थाई झोपड़यिां और दुकानें बना रखी है।

एसएसबी के असिस्टेंट कमांडेंट अभिनव तोमर का कहना है कि हाल के दिनों में कोई अतिक्रमण नहीं हुआ है लेकिन नेपाल के अतिक्रमण की रिपोर्ट उच्च स्तर पर भेजी है। अब सर्वे ऑफ इंडिया और सर्वे ऑफ नेपाल की टीमें ही इसका समाधान करेंगी।टनकपुर के रेंजर महेश सिंह बिष्ट ने बताया कि ‘सीमा से लगे भारतीय वन क्षेत्र में करीब पांच हेक्टेयर भूमि पर नेपाल का अतिक्रमण है। इसकी रिपोर्ट शासन को भेज दी गई है। अब दोनों देशों की सर्वे टीम ही इस मसले का हल करेंगी। भारत की तरफ से सीमा पर किसी भी तरह का अतिक्रमण नहीं किया गया है।

Related Articles

Back to top button