Moose Wala Murder: देहरादून में किराये के कमरे में रहता था आरोपी प्रियव्रत, यहीं रची गई थी गायक की हत्या की साजिश!

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला के मर्डर में गुजरात से अरेस्ट किये गए शूटर प्रियव्रत उर्फ फौजी ने कई महीनों तक देहरादून में डेरा जमाये रखा था।

देहरादून। पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला के मर्डर में गुजरात से अरेस्ट किये गए शूटर प्रियव्रत उर्फ फौजी ने कई महीनों तक देहरादून में डेरा जमाये रखा था। सोनीपत (हरियाणा) में एक हत्या को अंजाम देने के बाद उसने देहरादून को ही अपने छिपने का ठिकाना बनाया था। पुलिस का कहना है कि प्रियव्रत अप्रैल महीने में यहां से चला गया और 29 मई को पंजाब के मनसा में पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या की।

Moose Wala Murder

इसके बाद पंजाब पुलिस एक शूटर की तलाश के सिलसिले में देहरादून पहुंची थी तभी उसे पता चला था कि सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में शामिल रहा शूटर भी वारदात को अंजाम देने से पहले देहरादून में रहा था। अब दिल्ली पुलिस ने दो शूटरों को गुजरात से दबोचा है जिनमें से एक हरियाणा निवासी प्रियव्रत उर्फ फौजी को मुख्य शूटर बताया जा रहा है। पुलिस के अधिकारिक सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि दून में रहने वाला शूटर भी फौजी ही है।

प्रियव्रत उर्फ़ फौजी का नाम पिछले साल सोनीपत में एक अन्य हत्या में आया था। उस वारदात में उसके साथ चार युवक और भी थे। उस वारदात को अंजाम देने के बाद वह कई महीनों तक देहरादून में किराए पर रहा था। मकान मालिक से इस बारे में पूछताछ की गई तो पता चला कि वह अप्रैल में ही यहां से चला गया था। बताया जा रहा है कि पांचों युवक दिनभर मकान में ही रहते थे। वे कभी कभी ही बाहर निकलते थे। उनकी संदिग्ध गतिविधियों को लेकर कई बार उन्हें मकान छोड़ने के लिए भी कहा गया था।

हालांकि, अप्रैल में वे लोग बिना बताए यहां से चले गए। पुलिस सूत्रों की मानें तो प्रियव्रत उर्फ फौजी देहरादून में रहा जरूर था, लेकिन उसने या उसके साथियों ने दून में रहकर मुसेवाला की हत्या की साजिश रची थी, इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है। पंजाब पुलिस के साथ एसटीएफ ने भी इस मसले में पड़ताल की थी, लेकिन इसका पता नहीं ये भी बताया जा रहा है कि जो युवक उसके साथ यहां किराये पर रह रहे थे वे मूसेवाला की हत्या में शामिल नहीं हैं। हालांकि, अभी प्रियव्रत दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में है। ऐसे में जब उसे पंजाब पुलिस को सौंपा जाएगा तभी यहां एक बार फिर से छनबीन की जा सकती है।

Related Articles

Back to top button