भूस्खलन ने बढ़ाई यात्रियों की परेशानी, पुल बहे, हाईवे और सड़कें बंद, जगह-जगह फंसे यात्री

उत्तराखंड के कई जिलों में हो रही भारी बारिश की वजह से हुए भूस्खलन ने यात्रियों की मुश्किलें बढ़ा दी है। लैंडस्लाइड की वजह से केदारनाथ हाईवे...

देहरादून। उत्तराखंड के कई जिलों में हो रही भारी बारिश की वजह से हुए भूस्खलन ने यात्रियों की मुश्किलें बढ़ा दी है। लैंडस्लाइड की वजह से केदारनाथ हाईवे पर गोपेश्वर-चोपता कुंड केदारनाथ हाइवे पर वॉश आउट होने से बाधित हो गया है। मूसलाधार बरसात के चलते घाट दांगी पुल बह गया है। वहीं घिंघराण पुल भी क्षतिग्रस्त हो गया है। हाईवे और सड़कें बंद होने से कई जगह पर यात्री फंस गए हैं।

landslide

हालांकि राहत की बात ये है कि बद्रीनाथ-केदारनाथ हाईवे यातायात के लिए सुचारू है। सुबह के समय केदारनाथ हाईवे मुनकटिया में मलबा आने से थोड़ी देर बाधित रहा लेकिन शीघ्र ही इसे खोल दिया गया। वहीं बदरीनाथ हाईवे पर सिरोबगड़ में पत्थर गिरने का सिलसिला जारी है, यातायात के संचालन में मुश्किलें आ रही हैं। हालांकि यातायात यहां लगातार सुचारु रूप से चल रहा है जिससे केदारनाथ धाम की यात्रा को रोका नहीं गया है।

शनिवार को सुबह 8 बजे तक 600 तीर्थयात्री केदारनाथ के लिए रवाना किये गए हैं। जिले के सभी स्थानों पर बादल छाये हुए हैं और कहीं-कहीं पर हल्की बारिश भी हो रही है। इधर उत्तरकाशी जिले में भी अभी भी चार सड़कों पर यातायात ठप है। मोरी में फफराला खड्ड के उफान से ध्वस्त मोरी-सांकरी सड़क पर देर शाम यातायात शुरू किया गया। विभागीय अधिकारियों का दावा है कि शनिवार तक जिले की सभी सड़कें खोल दी जाएगी और वाहनों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा।

Related Articles

Back to top button