लखीमपुर खीरी: भाजपा के परिवार से भी मिलना चाहती थी प्रियंका गाँधी, लेकिन परिवार ने कर दिया मना

लखीमपुर खीरी में किसानों के परिवार से मिलने के बाद राहुल और प्रियंका मारे गए पत्रकार से परिवार से मिले.

Spread the love

लखीमपुर खीरी काण्ड के बाद से कांग्रेस पार्टी ज़्यादा सजग दिख रही है, आपको बता दें कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी की हिंसा (Lakhimpur Kheri Violence) में मारे गए लोगों के परिवार से मुलाकात कर रहे हैं. लखीमपुर खीरी में किसानों के परिवार से मिलने के बाद राहुल और प्रियंका मारे गए पत्रकार से परिवार से मिले.

वहीँ इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में प्रियंका गांधी ने कहा कि वह बीजेपी के मारे गए कार्यकर्ताओं के परिजनों से भी मिलना चाहती थीं लेकिन पता चला कि वह नहीं मिलना चाहते. मेरी उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं हैं. प्रियंका ने कहा, “मैं बीजेपी के जो कार्यकर्ता मरे हैं, उनके परिवार से भी मिलना चाहती थी. मैंने आईजी से पूछा भी. लेकिन आईजी ने कहा कि वह नहीं मिलना चाहते. मैं उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करती हूं.”

बता दें राहुल और प्रियंका वाड्रा अब किसान नछत्र सिंह के घर धौराहरा तहसील के गांव रामनगर लहबडी पहुंचे हैं और उनके परिजनों से मुलाकात कर रहे हैं. यहां से राहुल और प्रियंका लखनऊ जाएंगे. उधर पीड़ितों के मुआवजे को लेकर सियासत तेज हो गई है. बीजेपी नेताओं का कहना है कि वो घटना में मारे गए सभी 8 लोगों के परिवारों को मुआवजा दे रहे हैं. जबकि, कांग्रेस ने केवल 5 ही परिवारों को मुआवजा देने का फैसला किया है. हिंसा में चार किसानों, 3 बीजेपी कार्यकर्ताओं और एक पत्रकार की मौत हो गई थी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button