Kedarnath Yatra 2022 : आप भी जाना चाहते हैं केदारनाथ तो अभी से कर लें बुकिंग, इस डेट को खुलेंगे कपाट

देहरादून। केदारनाथ यात्रा (Kedarnath Yatra 2022) के लिए हेली सेवा की बुकिंग आज से उत्तराखंड प्रशासन द्वारा शुरू कर दी जाएगी। इसके लिए उत्तराखंड सिविल एसोसिएशन डेवलपमेंट ने सभी तैयारियां पूरी कर ली है। UCADA ने टिकटों की कालाबाजारी को रोकने के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी कर दिए हैं।

Kedarnath Yatra 2022

UCADA ने गढ़वाल मंडल विकास निगम (GMVN) को आनलाइन टिकटों की बुकिंग करने की जिम्मेदारी सौंपी है। बताया जा रहा है कि केदारनाथ धाम के कपाट आने वाले 6 मई को खुलने जा रहे हैं। देहरादून प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक केदारनाथ धाम के लिए गुप्तकाशी, सिरसी और फाटा से संचालित होने वाली हेली सेवा के लिए आज से ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग होनी शुरू हो जाएगी। (Kedarnath Yatra 2022)

टिकटों की बुकिंग की जानकारी देते हुए उत्तराखंड टूरिज्म डेवलप बोर्ड के सेक्रेटरी दिलीप जावलकर ने बताया कि देश-दुनिया से आने वाले तमाम तीर्थयात्रियों (Kedarnath Yatra 2022) की सुविधा के लिए GMVN की वेबसाइट https://heliservices.uk.gov.in/ पर हेली सेवा का टिकट उपलब्ध होगा। उन्होंने केदारनाथ आने के इच्छुक तीर्थयात्रियों से GMVN की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर हेली सेवा के टिकट बुक करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा है कि हेली सेवा का दो तरफ का किराया लगभग 5000 रुपये पड़ेगा।

शुरू कर लीजिए तैयारियां

केदारनाथ यात्रा (Kedarnath Yatra 2022) पर जाने वाले तीर्थियात्रियों को पहले से ही सब चीजों की व्यवस्था रखनी होगी। जैसे कि ठहरने के लिए होटल और खान-पान आदि का इंतजाम। GMVN की वेबसाइट पर आप किफायती दाम पर होटल, फूड और एक्टिविटीज की भी बुकिंग करा सकते हैं।

बदरीनाथ की यात्रा भी होगी शुरू

केदारनाथ धाम के साथ ही गढ़वाल हिमालय के चारधाम (Kedarnath Yatra 2022) के नाम से मशहूर चमोली जिले में स्थित बदरीनाथ धाम के कपाट भी 8 मई से खुलने जा रहे हैं। गौरतलब है कि गढ़वाल हिमालय की पहाड़ियों पर स्थित चारों धाम, बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री सर्दियों में भारी बर्फवारी की वजह से अक्टूबर-नवंबर महीने में बंद कर दिए जाते हैं। इसके बाद इन्हें अप्रैल-मई में दोबारा खोला जाता है।

Healthy Lifestyle : घंटों कुर्सी पर बैठे रहते हैं तो सुधार लें पोजीशन, वरना कम उम्र में ही हो जायेंगे खतरनाक बीमारि

Related Articles

Back to top button