kanwar yatra 2022: मानकों को दरकिनार कर गंगा में छलांग लगा रहे कावंड़िए

सुरक्षा मानकों को दरकिनार कर गंगा में डुबकी लगाने वाले कावड़ियों को पुलिस बचाने का भरपूर प्रयास कर रही है। पुलिस अब तक 20 से अधिक...

हरिद्वार। सुरक्षा मानकों को दरकिनार कर गंगा में डुबकी लगाने वाले कावड़ियों को पुलिस बचाने का भरपूर प्रयास कर रही है। पुलिस अब तक 20 से अधिक कावड़ियों को बचा चुकी है। रविवार को भी पुलिस के गोताखोर विक्रांत, कुलतार, किशन व सनी ने इंद्र कॉलोनी रोहतक के रहने वाले अंकुश निवासी और बल्लभगढ़ के रहने वाले गोविंद शर्मा को गंगा में बहने से बचाया।

river ganga

बताया जा रहा है कि हर दिन गंगा नदी में दो-तीन कांवड़िए सुरक्षा मानकों को दरकिनार कर छलांग लगा रहे हैं और पानी के तेज बहाव में जा रहे हैं, लेकिन जाना जोखिम में डाल चुके इस कांवड़ियों के लिए पुलिस के गोताखोर खेवनहार बन रहे हैं और बचा कर उन्हें जीवनदान दे रहे हैं।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक हरिद्वार पुलिस, पीएसी, एसडीआरएफ के गोताखोर रोजाना दो से तीन कांवड़ियों को गंगा के तेज बहाव के बीच से बचाकर बाहर ला रहे हैं। मालूम हो कि इन दिनों कांवड़ यात्रा अपने चरम पर है। कांवड़ियों के जत्थे पवित्र गंगा नदी से जल भरने के लिए लगातार हरिद्वार पहुंच रहे हैं। धर्मनगरी में पहुंचकर कांवड़िए गंगा स्नान कर रहे हैं। वहीं बहुत से कांवड़िए ऐसे भी हैं, जो सुरक्षा व्यवस्था के मानकों को दरकिनार कर पुलों और घाटों से नदी कूद रहे हैं और अपनी जान जोखिम में डाल रहे हैं।

कई बार नियंत्रण बिगड़ने की वजह से कांवड़िए पानी के तेज बहाव में बहने लगते हैं। ऐसे में ड्यूटी पर तैनात किये गए पुलिस के गोताखोर इनको बचाने के लिए अपनी जान की परवाह किए बिना ही गंगा में कूद पड़ते हैं। बताया जा रहा है कि कांवड़ यात्रा शुरू होने के साथ ही पुलिस अब तक 20 से अधिक कांवड़ियों को गंगा में बहते हुए बचा चुकी है।

Related Articles

Back to top button