kainchi Mela 2022: कैंची धाम में उमड़ी नीम करोली बाबा के भक्तों की भीड़

कोरोना काल की वजह से बंद हुआ मेला दो साल बाद फिर से कैची धाम में आयोजित किया गया। बाबा नीम करोली महाराज के दर्शन करने के...

भवाली (नैनीताल)। कोरोना काल की वजह से बंद हुआ मेला दो साल बाद फिर से कैची धाम में आयोजित किया गया। बाबा नीम करोली महाराज के दर्शन करने के लिए भारी संख्या में यहां श्रद्धालु पहुंचे हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि यहां एक लाख से अधिक श्रद्धालु पहुंचेंगे। मंदिर ट्रस्ट भक्तजनों के ठहरने, प्रसाद और मार्गों के इंतजामत में जुटा हुआ है।

kainchi mela 2022

बता दें कि बाबा नीम करोली महाराज को भोग लगाने के साथ कैंची मेले में सुबह से श्रद्धालुओं का तांता लगना शुरू हो गया है। सुबह चार बजे से ही लोग यहां पहुंचने लगे हैं। मालूम हो कि अल्मोड़ा मार्ग पर भवाली से आठ किमी दूर स्थित कैंची धाम में हर साल 15 जून को प्रतिष्ठा दिवस एक आयोजन किया जाता है।

इस मौके पर यहां पहुंचे श्रद्धालुओं को प्रसाद में देने के लिए मालपुए बनाए जाते हैं। यहां पहुंचे भक्त सबसे पहले मां विंध्यवासिनी देवी के दर्शन करते हैं। देवी विध्यवासिनी की स्थापना 15 जून 1973 को हुई थी। इसके बाद बजरंग बली, शिवजी और फिर वैष्णो देवी के दर्शन करने के बाद भक्त बाबा की प्रतिमा के आगे मत्था टेकते हैं। यहां वैष्णो देवी की स्थापना 15 जून 1974 में की गई थी। पंडित पुजारियों की मानें तो भक्तों की आस्था है कि बाबा नीम करोली महाराज स्वयं मंदिर में किसी न किसी रूप में मौजूद हैं।

कैंचीधाम में लगने वाले मेले को सफल बनाने के लिए पुलिस और जिला प्रशासन की टीम और मंदिर समिति के पदाधिकारी कई दिनों से जुटे हुए हैं। यातायात व्यवस्था दुरुस्त रहे इसके लिए भवाली में दोपहिया वाहन चालकों को रोककर शटल सेवा और टैक्सियों से श्रद्धालुओं को कैंची धाम तक भेजा जा रहा है। कैंची धाम में लंबा जाम लगने की वजह से श्रद्धालुओं को समस्या का सामना करना पड़ा।

Related Articles

Back to top button