पहल: लैंगिक असमानता को खत्म करने का संदेश लेकर निकलेगी पैदल कांवड़ यात्रा, मंत्री रेखा आर्य भी करेंगी शिरकत

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के संदेश एवं लैंगिक असमानता को खत्म करने के संकल्प के साथ 26 जुलाई को हरिद्वार हर की...

देहरादून। बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के संदेश एवं लैंगिक असमानता को खत्म करने के संकल्प के साथ 26 जुलाई को हरिद्वार हर की पैड़ी से 25 किलोमीटर की पैदल कावंड यात्रा निकाली जाएगी। यह कहना है महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य का। मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि वह खुद इस यात्रा में शामिल होंगी। उन्होंने बताया कि इस दिन हरिद्वार में हर की पैड़ी से कांवड में गंगाजल भरकर ऋषिकेश स्थित पौराणिक वीरभद्र मंदिर में जलाभिषेक किया जाएगा।

KAWAD YATARA REKHA AARYA

महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य का कहना है कि लैंगिक असमानता को खत्म करने को लेकर सरकार ने संकल्प लिया है। सावन के इस पवित्र महीने में एक संदेश उन माता-पिता और समाज को दिया जाए जो लड़कियों को लेकर असमानता की सोच रखते हैं। उन्होंने कहा कि यात्रा का शुभारंभ पंचदशनाम जूना अखाड़ा के मुख्य संरक्षक हरिगिरी जी महाराज करेंगे।

इस दिन सुबह छह बजे गंगा पूजा और महात्माओं के शंखनाद के साथ अवधेशानंद जी महाराज, राज राजेश्वरानंद, रामदेव, कैलाशानंद, जिले के संगठन से जुड़े लोग, विधायक, जूना अखाड़ा ,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी उपस्थित रहेंगे। प्रदेश के तमाम जिलों की आंगनबाड़ी बहनें एवं खेल विभाग की छात्राएं भी यात्रा में शिरकत करेंगी। इसके बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ऋषिकेश स्थित पौराणिक वीरभद्र मंदिर में जलाभिषेक कर यात्रा का समापन करेंगे।

भ्रूण का परीक्षण करने वाले अस्पतालों पर कसेगा शिकंजा

महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्य का कहना है कि बेटियों को गर्भ में ही मार देना या फिर भ्रूण का परीक्षण कराना एक दंडनीय अपराध है, लेकिन फिर भी कुछ पैथोलॉजी, नर्सिंग होम और अस्पताल चोरी छिपे इस कृत्य को करते हैं। मंत्री ने कहा कि जो भी व्यक्ति इस तरह के कृत्य करने वालों की सूचना विभाग को टोल फ्री नंबर 181 पर देगा उनके नाम को गोपनीय रखते हुए उसे ईनाम दिया जाएगा और ऐसा घिनौना कार्य करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles

Back to top button