वीडियो कांफ्रेंस में सीएम शिवराज ने नए वेरिएंट को लेकर सतर्क रहने का दिया निर्देश

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को मंत्रालय में कलेक्टर-कमिश्नर, आइजी-पुलिस पुलिस अधीक्षकों की वीडियो कांफ्रेंस में अधिकारियों को निर्देश दिए। शिवराज सिंह कांफ्रेंस की शुरुआत कांफ्रेंस की शुरुआत कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा के साथ की गई। दो साल में सात हार्डकोर माओवादी पुलिस मुठभेड़ में मारे गए हैं और तीन को गिरफ्तार किया है। बीस स्थानों का पता करके विस्फोटक जब्त किया है। इन्हें हथियार की आपूर्ति करने वाले 18 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।

Spread the love

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने सोमवार को मंत्रालय में कलेक्टर-कमिश्नर, आइजी-पुलिस पुलिस अधीक्षकों की वीडियो कांफ्रेंस में अधिकारियों को निर्देश दिए। शिवराज सिंह कांफ्रेंस की शुरुआत कांफ्रेंस की शुरुआत कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा के साथ की गई। दो साल में सात हार्डकोर माओवादी पुलिस मुठभेड़ में मारे गए हैं और तीन को गिरफ्तार किया है। बीस स्थानों का पता करके विस्फोटक जब्त किया है। इन्हें हथियार की आपूर्ति करने वाले 18 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।

सीएम शिवराज ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्मैक बेचने का कारोबार करने वालों को बर्बाद और तबाह कर दो। पुलिस या कोई अन्य अधिकारी, जो भी नशा का कारोबार करने वालों के साथ मिलीभगत कर रहा है, उसे नौकरी से बर्खास्त करें। नशा मुक्ति अभियान समाज के साथ मिलकर संचालित करें।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भू-माफिया साढ़े तीन हजार एकड़ भूमि पर गरीबों के आवास बनाए जाएंगे। मैं स्वयं मुक्त कराई गई भूमि पर गरीबों के आवास का भूमिपूजन करने के लिए आऊंगा। शिवराज ने बताया अब तक 3559 एकड़ भूमि माफिया से मुक्त कराई जा चुकी है।

मुख्यमंत्री ने धार और मुरैना के प्रदर्शन पर नाराजगी जताते हुए कहा जब बाकी जिले बेहतर काम कर रहे हैं, तो आपको क्या समस्या आ रही है। उज्जैन और जबलपुर जिले ने अपराध रोकने में सबसे अच्छा काम किया। वहीं, सागर, भोपाल, इंदौर, ग्वालियर जिले का काम संतोषप्रद पाया गया। चिन्हित अपराध के मामले में मंडला, रायसेन, नरसिंहपुर, दतिया, रेल इंदौर, भिंड, शहडोल, उमरिया, छतरपुर और बड़वानी जिले ने अच्छा प्रदर्शन किया।

शिवराज ने कोरोना की समीक्षा में नए वेरिएंट को लेकर सतर्क रहने के निर्देश दिए। इंदौर और भोपाल में अलग-अलग जगह से मामले आ रहे हैं। मास्क लगाने के लिए रोका-टोकी शुरू करें। टीकाकरण को प्राथमिकता दें। प्रदेश में 201 में से 178 आक्सीजन प्लांट लग चुके हैं। इन्हें चालू करके देख लें। वेंटिलेटर, दवाई आदि की पूरी व्यवस्था रखें। तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए व्यवस्था चाकचौबंद रखें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button