हरीश रावत ने सरकार को खनन प्रेमी बताकर दिया धरना, कहा- भाजपा सरकार ने गैरसैंण के साथ नहीं किया न्याय

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Election 2022) में कुछ ही महीने बाकी हैं। जिसे देखते हुए उत्तराखंड में सभी सियासी हलचल तेज हो गई है। इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी मोर्चा खोलते हुए विधानसभा के बाहर धरना दिया। भाजपा सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। हरीश रावत ने कहा कि भाजपा की मौजूदा सरकार ने गैरसैंण के साथ न्याय नहीं किया है।

देहरादून. उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Election 2022) में कुछ ही महीने बाकी हैं। जिसे देखते हुए उत्तराखंड में सभी सियासी हलचल तेज हो गई है। इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी मोर्चा खोलते हुए विधानसभा के बाहर धरना दिया। भाजपा सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। हरीश रावत ने कहा कि भाजपा की मौजूदा सरकार ने गैरसैंण के साथ न्याय नहीं किया है।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने विधानसभा के बाहर कांग्रेस के समर्थकों के साथ धरना दिया है। गणेश गोदियाल ने अवैध खनन और गैरसैंण के मुद्दे को लेकर धरने पर बैठे है। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भाजपा की मौजूदा सरकार ने गैरसैंण के साथ न्याय नहीं किया है। हरीश रावत ने तीखा हमला बोलते हुए कहा, राज्य में प्राकृतिक संपदा की लूट हो रही है. ऐसा लगता है कि सरकार ने लूट का लाइसेंस दे दिया है।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत व गणेश गोदियाल शनिवार शाम गैरसैंण से देहरादून पहुंचे। सहस्रधारा हेलीपैड से दोनों नेता विधानसभा के लिए रवाना हुए। राजीवनगर में उनकी कार को बैरिकेडिंग पर रोक दिया गया। इसके बाद हरीश रावत पैदल ही गंतव्य के लिए आगे बढ़ गए। रास्ते में पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माने। बाद में वह एक स्कूटी सवार के साथ विधानसभा के समक्ष पहुंचे। शीतकालीन सत्र के अंतिम दिन विधानसभा की कार्यवाही चल रही थी। वहीं नेताद्वय ने विधानसभा के समक्ष धरना दिया।

Related Articles

Back to top button