Ganga Dussehra 2022: गंगा घाटों पर उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब, ड्रोन से हो रही निगरानी

गंगा दशहरा पर्व पर धर्मनगरी हरिद्वार में गंगा घाटों पर सुबह से ही श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा है। हर की पैड़ी और ब्रह्मकुंड समेत...

हरिद्वार। गंगा दशहरा पर्व पर धर्मनगरी हरिद्वार में गंगा घाटों पर सुबह से ही श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा है। हर की पैड़ी और ब्रह्मकुंड समेत अलग-अलग घाटों पर श्रद्धालुओं ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाकर स्नान किया। स्नान के उपरांत सभी देवी देवताओं का पूजन कर आशीर्वाद लिया।

Ganga Dussehra 2022
बता दें कि गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी पर्व स्नान के लिए हरिद्वार में लाखों श्रद्धालुओं के पहुंचने की संभावनाओं के मद्देनजर पुलिस-प्रशासन ने भी व्यवस्था चाक चौबंद की थी। हरकी पैड़ी में भीड़ को कंट्रोल करने के लिए बुधवार शाम से बैरिकेडिंग कर दी गई थी। वहीं सभी घाटों पर ड्रोन से निगरानी की जा रही है। बुधवार को डीएम और एसएसपी ने स्नान पर्व पर ड्यूटी करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की ब्रीफिंग भी की थी।
गौरतलब है कि कोरोना महामारी में कमी आने के दो साल बाद पर्व स्नानों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ रही है।

गत दिवस जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय और आईजी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने अधिकारियों और कर्मचारियों को ब्रीफ करते हुए कहा था कि नौ जून को गंगा दशहरा और 11 जून को निर्जला एकादशी है। ये दोनों ही हिंदू आस्था के बड़े पर्व हैं। ऐसे में गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने पर समस्त व्यवस्थाओं को चुनौती के रूप पूर्ण करना होगा। आईजी डॉ. योगेंद्र रावत ने अधीक्षक नगर को मेले का प्रभारी अधिकारी नामित किया। इधर श्रद्धालुओं के वाहनों को निर्धारित पार्किंगों में ही खड़ा करवाया गया।

किसी भी वाहन को राष्ट्रीय राजमार्ग और अन्य मार्गों के किनारे खड़े नहीं होने दिया गया। अपर रोड से लेकर भीमगोड़ा जीरो जोन बनाया गया है। हरकी पैड़ी समेत अधिक भीड़ वाले क्षेत्रों में भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात किया गया है। गंगा दशहरा स्नान और निर्जला एकादशी पर्व स्नान के लिए मेला क्षेत्र को चार सुपर जोन, 16 जोन और 37 सेक्टर में बांटा गया है। जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने बताया कि हरकी पैड़ी समेत अन्य घाटों पर भीड़ को इकट्ठा नहीं होने दिया जायेगा।

Related Articles

Back to top button