Fraud: मालिक से ही कर ली सिनेमाघर की डील, शातिरों ने बनाया गजब का प्लान

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में फर्जीवाड़े का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने सबको हैरान कर दिया। दरअसल, फर्जी दस्तावेज...

देहरादून। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में फर्जीवाड़े का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने सबको हैरान कर दिया। दरअसल, फर्जी दस्तावेज बनाकर छायादीप सिनेमाघर के मालिक को ही सिनेमाघर बेचने वालों को पुलिस ने रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। पकड़े गए चारों लोग प्रापर्टी डीलर हैं।

FRAUD

मामले को लेकर बताया जा रहा है कि चारों आरोपियों ने सिनेमाघर के मालिक के नाम से दो लोगों के नाम जमीन का एग्रीमेंट तैयार कराया। इसके बाद भूमि कब्जाने वाले सत्तार खान से फर्जी समझौता नामा तैयार किया गया और संपत्ति के पहले के दाखिल खारिज आदि के कागजात निकालकर 13 करोड़ में बेचने के फिराक में थे। इस फर्जीवाड़े की भनक लगने पर सिनेमाघर के मालिक ने पुलिस से संपर्क किया और पूरा वाकया बताया।इसके बाद सिनेमा घर के ओरिजनल मालिक खुद खरीदार बनकर आरोपियों के पास पहुंचे। जहां पुलिस ने चारों को रंगे हाथ अरेस्ट कर लिया।

कोतवाली प्रभारी विद्याभूषण नेगी ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि नई दिल्ली के डिफ्रेंस कालोनी निवासी तनमीत सिंह ने बृहस्पतिवार को धारा पुलिस चौकी में तहरीर दी थी और बताया था कि उनका नेशविला रोड पर छायादीप नाम से सिनेेमा हॉल है। इस सिनेमाघर की देखरेख और कोर्ट पैरवी रकम सिंह करते हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि दो-तीन दिन पहले रकम सिंह ने उन्हें फोन कर सिनेमा हॉल बेचने के बारे में पूछा था, जिस पर उन्होंने मना कर दिया था।

इस पर रकम सिंह ने उन्हें बताया कि उनके नाम से किसी संदीप जैन व रविंद्र जैन ने 50 लाख की रजिस्टर्ड रसीद बनाई है। इस रजिस्ट्री में सौरभ पोखरियाल और लक्ष्मीचंद गवाह बने हैं। उन्होंने आशंका जताई कि कुछ लोग सिनेमा घर को बेचने के फिराक में हैं। इसके बाद सिनेमाघर के मालिक तनमीत सिंह ने पुलिस को सूचना दी और योजना बनाकर खुद खरीदार बनकर आरोपियों के पास होटल पैसफिक पहुंच गए। यहां पुलिस ने फर्जी दस्तावेज तैयार कर सिनेमाघर बेचने वाले चारों शातिरों रविंद्र सिंह, संदीप कुमार जैन, लक्ष्मी चंद और सुधीर पोखरियाल को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया।

Related Articles

Back to top button