Himnagari Munsiyari में स्कीइंग करने दूर दूर से आए शौकीन, पढ़ें

बीते दिनों मौसम की मेहरबानी के बाद पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी में जमकर बर्फबारी हुई. इसी कारण से खलियाटॉप में तीन से चार फीट तक बर्फ जमी हुई है. ऐसे में ये इलाका स्नो स्कीइंग के लिए बेहद मुफीद बन गया है. बावजूद इसके केएमवीए (कुमाऊं मंडल विकास निगम) ने स्नो स्कीइंग करने से हाथ पीछे खींच लिए.

पिथौरागढ़: मुनस्यारी में भारी बर्फबारी के चलते आम जनजीवन भले ही पटरी से उतर गया हो, लेकिन बर्फबारी का लोग जमकर फायदा भी उठा रहे हैं. हर साल बर्फबारी के बाद केएमवीएन (कुमाऊं मंडल विकास निगम) खलियाटॉप में स्नो स्कीइंग का आयोजन कराता है. हालांकि इस बार KMVN (Kumaon Mandal Vikas Nigam Limited) ने हाथ पीछे खींच लिये हैं, लेकिन जोहार क्लब ने अपने संसाधनों से स्कीइंग प्रशिक्षण जारी रखते हुए शासन-प्रशासन को आइना दिखाया है. मुनस्यारी के खलियाटॉप में इस बार तीन से पांच फीट बर्फबारी हुई है. ऐसे में ये इलाका स्नो स्कीइंग के लिए बेहद मुफीद बन गया है. स्नो स्कीइंग को लेकर KMVN ने हाथ पीछे खींचे तो जोहार क्लब आगे आ गया. जोहार क्लब अपने सीमित संसाधनों से हिमनगरी में स्नो स्कीइंग करा रहा है. इससे मुनस्यारी में स्नो स्कीइंग का आनंद लेने पहुंचे पर्यटकों के चेहरे खिल उठे हैं.

Himnagari Munsiyari

जोहार क्लब के इस कदम से ठप पड़े पर्यटन कारोबार और साहसिक खेल प्रशिक्षकों में भी उम्मीद की किरण जगी है. बता दें कि हिमनगरी मुनस्यारी पिथौरागढ़ जिले का प्रमुख पर्यटन स्थल है. यहां पर हिमालय की सुंदरता बेहद नजदीक से देखी जा सकती है. ट्रैकिंग, बर्ड वाचिंग, माउंटेन बाइकिंग और कैंप फायर के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक यहां पहुंचते हैं. इसके अलावा मुनस्यारी का खलियाटॉप और बेटुलीधार स्नो स्कीइंग के लिए मुफीद है. 10 दिनों तक चलने वाले इस स्कीइंग प्रशिक्षण में नए विद्यार्थियों को बेसिक कोर्स सिखाने के साथ ही राज्य के कोने-कोने से आये स्कीइंग के धुरंधर भी अपना जलवा बिखेरेंगे.पंडित नैन सिंह माउंटनियरिंग संस्थान की तरफ से भी युवाओं को स्नो स्कीइंग का प्रशिक्षण दिया जा रहा है.

संस्थान की ओएसडी रीना कौशल धर्मसक्तू ने बताया कि केरल, हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, आंध्र प्रदेश और उत्तराखंड सहित 9 राज्यों के युवक-युवतियां स्नो स्कीइंग प्रशिक्षण में भाग ले रहीं हैं. इस दौरान युवाओं ने बेटुलीधार में स्नो स्कीइंग की बारीकियां सीखीं

Related Articles

Back to top button