Firing in Delhi: 1 करोड़ की रंगदारी नहीं देने पर बिल्डर को मारी गोली, 5 शार्प शूटर्स गिरफ्तार

नई दिल्ली, 05 अप्रैल। जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी और लॉरेंस बिश्नोई के इशारे पर दिल्ली में एक रियल स्टेट कारोबारी से एक करोड़ की रंगदारी मांगने और नहीं देने पर उसे गोली मारने वाले पांच शार्प शूटर्स (Firing in Delhi) को दिल्ली पुलिस  की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों में सुनील मेघवाल, दीपक कश्यप, दीपक, कृष्ण गोपाल कश्यप और चंद्रभान नायक शामिल हैं।

Firing in Delhi

पुलिस ने आरोपियों के पास से बड़ी मात्रा में हथियार भी बरामद किए हैं। डीसीपी प्रमोद कुशवाहा के मुताबिक, 30 मार्च की शाम तीन बदमाशों ने मोहन गार्डन में एक रियल एस्टेट कंपनी में घुसकर मालिक से काला जठेड़ी के नाम पर एक करोड़ की रंगदारी मांगी और मालिक को पैर में गोली (Firing in Delhi) मार दी थी। घायल कारोबारी को अस्पताल में भर्ती कराया गया। मोहन गार्डन थाना पुलिस ने केस दर्ज कर जांच आरंभ की। जांच में स्पेशल सेल की टीम को भी लगाया गया।

सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि दो बाइक पर सवार पांच बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया था। आरोपियों की पहचान के बाद पुलिस ने उनकी तलाश शुरू की। पुलिस के अनुसार, दो अप्रैल को आरोपी सुनील कुमार मेघवाल को दबोचा गया। इसके बाद राजस्थान के हनुमानगढ़ में छापा मारकर चार अन्य शूटरों को पकड़ा गया। पूछताछ में आरोपियों ने गत 30 मार्च को हुई वारदात को अंजाम देने की बात कबूल की।

बाहर बाइक लेकर खड़े थे

आरोपियों ने बताया कि उन्होंने काला जठेड़ी-लॉरेंस बिश्नोई के इशारे पर इस वारदात को अंजाम दिया था। आरोपी दीपक कश्यप, सुनील कुमार मेघवाल और दीपक कारोबारी के दफ्तर में दाखिल हुए थे, जबकि कृष्ण कश्यप और चंद्रमोहन नायक बाहर बाइक लेकर खड़े थे। आरोपियों ने काला जठेड़ी के नाम की स्लिप देकर कारोबारी से एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगी थी।

इसके साथ ही आरोपियों ने यह भी बताया कि बाबा हरिदास नगर में उन्होंने अवैध हथियार रखे हुए हैं। इसके बाद पुलिस ने वहां छापेमारी कर दीपक की निशानदेही पर अवैध हथियार बरामद किए। आरोपी सुनील कुमार ने पुलिस को बताया कि वह पहले भी दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान में हत्या के प्रयास, जबरन उगाही, आर्म्स एक्ट की वारदात में शामिल रहा है।

Related Articles

Back to top button