खराब मौसम में यात्रा न करें श्रद्धालु, CM ने दी सलाह, केदारनाथ में पांच, हेमकुंड में तीन इंच बर्फबारी से बिगड़े हालात

चारधामों की यात्रा में बार-बार ख़राब हो रहा मौसम तीर्थयात्रियों के साथ-साथ प्रशासन और स्थानीय कारोबारियों के लिए मुसीबत पैदा...

रुद्रप्रयाग। चारधामों की यात्रा में बार-बार ख़राब हो रहा मौसम तीर्थयात्रियों के साथ-साथ प्रशासन और स्थानीय कारोबारियों के लिए मुसीबत पैदा कर रहा है। मंगलवार को सुबह से ही रुद्रप्रयाग में बारिश रही है। वहीं केदारनाथ धाम में भी पांच इंच से अधिक की बर्फबारी हुई है। पैदल मार्ग पर भी अच्छी खासी बारिश हुई है।

Snowfall in Kedarnath Dham

ख़राब मौसम और बारिश को देखते हुए गौरीकुंड से घोड़ा खच्चरों की आवाजाही भी रोकी गई है। यहां से सिर्फ पैदल चलने वाले यात्रियों को 12 बजे तक सुरक्षित स्थानों पर रोकते हुए यात्रा करने की इजाजत दी गई। केदारनाथ धाम से दर्शन करके नीचे आने वाले यात्रियों को भी सुरक्षित स्थानों पर ठहराते हुए यात्रा करने को कहा गया।

सेक्टर अधिकारी सोनप्रयाग का कहना है कि मंगलवार को सुबह 10 बजे सुरक्षा और खराब मौसम की वजह से यात्रियों को सोनप्रयाग में ही रोका गया, जबकि इससे पहले 10230 यात्री केदारनाथ रवाना किए गए। बारिश के कारण यात्रा पड़ाव जंगलचट्टी, भीमबली, लिंचौली, बेस कैंप में भी यात्रियों की भीड़ रही। केदारनाथ में बर्फबारी और बारिश के बावजूद बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं।

हालांकि अन्य दिनों के मुकाबले मंगलवार को दर्शनार्थियों की लंबी लाइन नहीं देखने को मिली। इधर हेमकुंड में भी तीन इंच तक ताजा बर्फबारी हुई है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि केदारनाथ धाम में लगातार बारिश हो रही है को देखते हुए तीर्थ यात्रियों से कुछ समय के लिए यात्रा स्थगित करने की अपील की है

Related Articles

Back to top button