Delhi के अस्‍पताल में अब ब‍िना भर्ती तुरंत होगा Covid मरीजों का इलाज, खुला ऐसा पहला इकलौता सेंटर

Spread the love

 

नई दिल्ली. द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) कोरोना की संभाव‍ित तीसरी लहर (Third Wave) से राजधानीवास‍ियों को बचाने के ल‍िये हरसंभव तैयार‍ियों में जुटी हुई है. इस द‍िशा में द‍िल्‍ली सरकार की ओर से बुधवार को राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल (Rajiv Gandhi Super Speciality Hospital) में पहले ‘कोविड-19 रैपिड रिस्पांस सेंटर’ की शुरूआत की गई है. इस सेंटर का उद्घाटन दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra Jain) ने क‍िया.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए सरकारी अस्पतालों को सभी सुविधाओं से लैस करने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. इसी के मद्देनजर यह केंद्र शुरू किया गया है, जो अस्पताल आने वाले कोविड-19 मरीजों का तत्काल इलाज मुहैया कराएगा.

राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने पहले ‘कोविड-19 रैपिड रिस्पांस सेंटर’ की शुरूआत की. Delhi Government, Arvind Kejriwal, Kejriwal Government, Covid-19, Coronavirus, Corona Third Wave, Rajiv Gandhi Super Speciality Hospital, Covid-19 Rapid Response Centre, America, Britain, द‍िल्‍ली सरकार, अर‍िव‍िंद केजरीवाल, केजरीवाल सरकार, को‍व‍िड-19, कोरोना संक्रमण, कोरोना तीसरी लहर, राजीव गांधी सुपर स्‍पेश‍ियल‍िटी अस्‍पताल, कोव‍िड-19 रैपिड रेस्‍पांस सेंटर, सत्‍येंद्र जैन

राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने पहले ‘कोविड-19 रैपिड रिस्पांस सेंटर’ की शुरूआत की.

इस सेंटर को 24 घंटे रैपिड रिस्पांस टीम संभालेगी, ताकि मरीजों को इलाज के लिए इंतजार न करना पड़े. यह केंद्र आईसीयू (ICU) और वेंटिलेटर से लैस है, ताकि कोविड-19 के आपातकालीन मामलों में मरीज को भर्ती होने के लिए इंतजार न करना पड़े और तत्काल इलाज देकर उनके बहुमूल्य जीवन को बचाया जा सके.

राजीव गांधी अस्पताल में पहले ‘कोविड-19 रैपिड रिस्पांस सेंटर’ की शुरूआत के अवसर पर बोलते हुये मंत्री सत्‍येंद्र जैन.

यह पहला ‘कोविड-19 रैपिड रिस्पांस सेंटर’ 24 घंटे रैपिड रिस्पांस टीम के सहयोग से एंबुलेंस को कम समय में अस्पताल से बाहर निकालने और मरीज को बिना इंतजार किए अस्पताल में भर्ती कराकर उनका बहुमूल्य जीवन बचाने में मदद करेगा. यह केंद्र अस्पताल आने वाले मरीजों को भर्ती के लिए प्रतीक्षा किए बिना तत्काल इलाज मुहैया कराएगा और मरीजों को बाद में उनकी स्थिति के आधार पर संबंधित वार्डों में स्थानांतरित किया जाएगा.

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button