अयोध्या पहुंचे सीएम योगी अद्भुत शांति महायज्ञ के समापन में हुए शामिल

अयोध्या. महर्षि रामायण विद्यापीठ के द्वारा नोएडा में शुरू हुए श्री विष्णु सर्व अद्भुत शांति महायज्ञ के पूर्णाहुति करने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुचे, और श्री विष्णु सर्व अद्भुत शांति महायज्ञ के समापन में बनारस के 101 वैदिक ब्राह्मण के द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच 1008 आहुतियां डाली। 

Spread the love

अयोध्या. महर्षि रामायण विद्यापीठ के द्वारा नोएडा में शुरू हुए श्री विष्णु सर्व अद्भुत शांति महायज्ञ के पूर्णाहुति करने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुचे, और श्री विष्णु सर्व अद्भुत शांति महायज्ञ के समापन में बनारस के 101 वैदिक ब्राह्मण के द्वारा वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच 1008 आहुतियां डाली।

इस दौरान सीएम योगी ने अयोध्या और अयोध्या दीपोत्सव की चर्चा की साथ ही साथ रामलीला में इंडोनेशिया के मुस्लिम कलाकारों के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि दीपोत्सव में कई देशों की रामलीला को बुलाया गया, इंडोनेशिया की भी रामलीला आई थी, जहां पर दुनिया के सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी है। इंडोनेशिया के रामलीला में कार्यरत सभी पात्र मुस्लिम थे।

इंडोनेशिया के मुस्लिम कलाकारों ने कहा कि राम के साथ मेरा आत्मीय संबंध है। राम हमारे पूर्वज हमारे पूर्वजों ने भी अपनी उपासना पद्धति बदली होगी लेकिन राम हमारे पूर्वज है। वही सीएम योगी ने अयोध्या पर चर्चा करते हुए कहा कि अयोध्या ने 500 वर्षों का संघर्ष झेला है। जो अत्याचार करते थे उनके खिलाफ अयोध्या खड़ी रही। प्रधानमंत्री ने 5 अगस्त 2020 को भव्य राम मंदिर का शिलान्यास किया। अब किसी को राम मंदिर निर्माण पर संदेह नहीं है। यह एक अद्भुत क्षण हम लोगों के सामने अयोध्या सूर्यवंश की राजधानी है। सप्त पुरियों में एक अयोध्या विकास के नए अवसर को छूता हुआ दिखाई दे रहा है।

अयोध्या में CM योगी आदित्यनाथ ने कहा वेद दुनिया का सबसे प्राचीन ग्रंथ है, दुनिया में वेदों को लेकर दुष्प्रचार हुआ, कुछ लोगों ने गलत तथ्य प्रस्तुत किए। वहीं ट्वीट कर सीएम योगी ने कहा  जब सरकारें सेक्युलर होने का दिखावा कर रही थीं, भारतीयता से मुंह मोड़ने का प्रयास कर रही थीं तब महर्षि महेश योगी जी ने साहस किया, ‘विश्व के समक्ष भारत की बात रखने का साहस किया’उनका कार्य उस कालखंड के लिए अद्भुत था, उनका कार्य वर्तमान के लिए अभिनंदनीय है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button