Char Dham Yatra: बढ़ाया गया दर्शन का समय, अब बिना रजिस्ट्रेशन नहीं कर सकेंगे यात्रा

चारधाम यात्रा के लिए श्रद्धालुओं की संख्या में लगातार हो रहे इजाफे को देखते हुए अब सरकार रजिस्ट्रेशन को लेकर सख्त हो गई है...

देहरादून। चारधाम यात्रा के लिए श्रद्धालुओं की संख्या में लगातार हो रहे इजाफे को देखते हुए अब सरकार रजिस्ट्रेशन को लेकर सख्त हो गई है। अब बिना रजिस्ट्रेशन के कोई भी यात्री चारधाम यात्रा पर नहीं आ सकेगा। ये नियम उत्तराखंड में रहने वाले लोगों पर भी लागू है। रजिस्ट्रेशन की जांच यात्रा मार्ग पर जगह-जगह स्थापित चौकियों और पुलिस चौकियों पर की जाएगी।

Char Dham Yatra

वहीं श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या के मद्देनजर सरकार ने चारों धामों के लिए होने वाले पंजीकरण में रोजाना की तय संख्या में एक-एक हजार की वृद्धि भी कर दी है। मिली जानकारी के अनुसार केदारनाथ धाम में श्रद्धालुओं के दर्शन करने का समय भी 5 घंटे और अधिक बढ़ा दिया गया है। अब सुबह 4 बजे से दोपहर 3 बजे तक और फिर शाम को 4 बजे से रात 10:30 बजे तक श्रद्धालु बाबा के दर्शन कर सकेंगे। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने श्रद्धालुओं से अपील की है कि जब तक यात्रा की इजाजत न मिले, तब तक वे यात्रा के लिए न निकलें।

तय है यात्रियों की संख्या

बता दें कि कोरोना महामारी की वजह दो साल तब बंद पड़ी चारधाम यात्रा इस साल बिना किसी प्रतिबंध के शुरू हुई है। ऐसे में श्रद्धालुओं में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। बता दें के सरकार ने 30 अप्रैल को आदेश जारी कर चारों धामों में प्रतिदिन दर्शन करने वाले तीर्थ यात्रियों संख्या तय की थी। जैसे कि बदरीनाथ में 15000, केदारनाथ में 12000, गंगोत्री में 7000 और यमुनोत्री में 4000 दर्शनार्थियों की संख्या तय की गई थी। वहीं पर्यटन विभाग की वेबसाइट registrationandtouristcare.uk.gov.in में श्रद्धालुओं का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य किया गया है।

Related Articles

Back to top button