जूते-चप्पल खरीदना पड़ेगा महंगा, खर्च करने होंगे पहले से ज्यादा पैसे

जूते-चप्पल खरीदना पड़ेगा महंगा, खर्च करने होंगे पहले से ज्यादा पैसे

बिजनेस डेस्क. अब से आपको कपड़े, जूते-चप्पल और टेक्सटाइल का सामान खरीदने के लिए पहले से ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे. केंद्र सरकार ने इन सभी सामान पर GST को बढ़ा दिया है यानी अब से कपड़े और जूते-चप्पल खरीदना महंगा हो जाएगा. सरकार पहले इन सामान पर 5% की दर से जीएसटी लगाती थी, लेकिन एब इसको बढ़ाकर 12% कर दिया गया है. नई दरें जनवरी 2022 से लागू हो जाएंगी.

सेंट्रल  बोर्ड  ऑफ इन डायरेक्ट टैक्स ने अधिसूचना जारी कर इस बारे में जानकारी दी है. काफी समय से यह संभावना जताई जा रही थी कि सरकार रेडीमेड और टेक्सटाइल पर जीएसटी बढ़ा सकता है. आपको बता दें अब किसी भी कीमत के फैब्रिक पर 12% की दर से ही जीएसटी लगेगा. पहले 1000 रुपये तक की कीमत के कपड़े पर 5% की दर से जीएसटी लगता था, लेकिन अब सभी पर 12% की दर से ही जीएसटी लगाया जाएगा. इसके अलावा धागों पर भी 12% की दर से ही जीएसटी लगेगा.

इसके अलावा बुने धागे, सिंथेटिक धागे, थान, कंबल, टेंट, टेबल क्लॉथ, रग्स, तौलिया, नैपकिन, रूमाल, कालीन, गलीचा, लोई सभी पर 12% की दर ही लागू होगी. वहीं, फुटवेयर पर जीएसटी के रेट्स को बढ़ाया गया है. क्लॉथिंग मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया सरकार के इस कदम का विरोध कर रहा है. संगठन का कहना है कि देश में महामारी का असर अभी तक गया नहीं है. व्यापार में अभी भी उस तरह की तेजी देखने को नहीं मिल रही है जैसे पहले देखी जाती थी. वहीं, सरकार की ओर से जीएसटी की दरें बढ़ा दी गई हैं.

Related Articles

Back to top button