अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड बनेगी उत्तराखंड के Berinag Tea, लाल चावल को भी मिलेगा जीआई टैग

उत्तराखंड के लाल चावल, बेरीनाग की चाय (Berinag Tea), बुरांस के शरबत भी जल्द ही अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड बन जायेंगे। राज्य सरकार यहां के कुल नौ और उत्पादों...

Spread the love

देहरादून। उत्तराखंड के लाल चावल, बेरीनाग की चाय (Berinag Tea), बुरांस के शरबत भी जल्द ही अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड बन जायेंगे। राज्य सरकार यहां के कुल नौ और उत्पादों को अंतर्राष्ट्रीय पहचान दिलाने के मकसद से जीआई टैग दिलाने की प्लानिंग कर रही है। कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री सुबोध उनियाल ने बताया कि राज्य के उत्पादों को जीआई टैग मिलने की वजह से उत्तराखंड की विशिष्ट पहचान भी मिल जाएगी।

Berinag Tea

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के इन उत्पाद को ब्रांड उत्तराखंड (Berinag Tea) के रूप में स्थापित करने में भी मदद मिलेगी। बता दें कि राज्य के आठ उत्पादों को अब तक जीआई टैग मिल चुका है। इसमें कुमांऊ के च्यूरा ऑयल, मुनस्यारी का राजमा, उत्तराखंड के भोट क्षेत्र का दन, उत्तराखंड के ऐपण, रिंगाल क्राफ्ट, ताम्र उत्पाद एवं थुलमा शामिल हैं।

11 और वस्तुओं को भी जीआई टैग में शामिल कराने की तैयारी

अब सरकार उत्तराखंड में विशिष्ट पहचान रखने वाली 11 और वस्तुओं को भी जीआई टैग में शामिल कराने की तैयारी कर रही है। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। बता दें कि भौगोलिक संकेतांक यानि जीआई टैग एक विशिष्ट प्रकार का संकेतांक है। इसका प्रयोग किसी विशिष्ट क्षेत्र में पैदा होने वाले या बनाए जाने वाले उत्पाद को पहचान देने में किया जाता है। (Berinag Tea)

Uttarakhand News: लाठीचार्ज के विरोध में धरने पर बैठे एमबीपीजी कॉलेज के छात्र

Uttarakhand Cm धामी ने आइसलैंण्ड के उच्चायुक्त से की भेंट, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

15 नवंबर को उत्तराखंड के इस जिले का दौरा करेंगे JP नड्डा, तैयारियों में जुटे पार्टी कार्यकर्ता

सलमान खुर्शीद की पुस्तक को लेकर उत्तराखंड में बवाल, हिंदू युवा वाहिनी ने फूंका पुतला

पीएम नरेंद्र मोदी ने आरबीआई की दो सुविधाओं की शुरुआत, ग्राहकों मिलेगा ये फायेदा

Uttarakhand News Today: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इगास पर्व पर घोषित किया राजकीय अवकाश

Uttarakhand Cm धामी ने आइसलैंण्ड के उच्चायुक्त से की भेंट, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button