Badrinath Yatra : फिर से शुरू हुई बारिश की वजह से रोकी गई यात्रा,जानें कहां-कहां रोके गए थे यात्री

उत्तराखंड में दो साल बाद शुरू हुई चार धाम यात्रा में रोजाना लाखों श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। राज्य का पुलिस प्रशासन और स्थानीय प्रशासन चार...

चमोली। उत्तराखंड में दो साल बाद शुरू हुई चार धाम यात्रा में रोजाना लाखों श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। राज्य का पुलिस प्रशासन और स्थानीय प्रशासन चार धाम यात्रा को सुगम बनाने के लिए दिन रात मेहनत कर रहा है। गत दिवस यानी सोमवार से उत्तराखंड में मौसम का मिजाज कुछबिगड़ा हुआ था। यहां तेज बारिश और आंधी की वजह से जन जीवन अस्त व्यस्त हो चुका है।

Badrinath Yatra 2022

चार धाम यात्रा में बद्रीनाथ धाम की यात्रा में मौसम खराब होने के चलते से थोड़े समय के लिए अवरोध पैदा हो गया था। दरअसल सोमवार शाम को मूसलाधार बारिश होने से बद्रीनाथ की यात्रा को रोक दिया गया था लेकिन मंगलवार की सुबह स्थिति सामान्य होने पर यात्रा को फिर से सुचारु रूप से शुरू कर दिया गया है। बता दें कि यात्रा शुरू होने के बाद सोमवार शाम में पहली बार बद्रीनाथ धाम यात्रा को रोका गया था।

बताया जा रहा है कि बद्रीनाथ धाम के राष्ट्रीय राजमार्ग पर हनुमान चट्टी से बद्रीनाथ के बीच लामबगड़ में स्थित नाला भरने से यात्रा रोकनी पड़ी। वही बलदूड़ा में पत्थर गिरने की खबर मिलने के बाद किसी अनहोनी की आशंका से प्रशासन ने यात्रियों को पाण्डुकेस्वर, बद्रीनाथ, जोशीमठ, पीपलकोटी, चमोली और गौचर में ही रोक दिया था। यहां सोमवार देर शाम से मूसलाधार बारिश हो रही थी।

यात्रियों की 115 गाड़ियां हुई रवाना

जिलाधिकारी चमोली के मुताबिक सोमवार शाम को यात्रा रोक दी गई थी, लेकिन मंगलवार सुबह स्थिति सामान्य होने पर यात्रियों की 115 गाड़ियां बद्रीनाथ धाम के लिए रवाना की गई। फिलहाल स्थिति सामान्य हो रही है और यात्रा को सुगम बनाने के लिए सभी जरूरी कदम भी उठाए जा रहे हैं।

Related Articles

Back to top button