बड़ी खबर: अरुणाचल प्रदेश में चीनी सेना ने लांघा बॉर्डर, भारतीय जवानों ने दिया मुंहतोड़ जवाब

बीते सप्ताह अरुणाचल प्रदेश के तवांग इलाके में भारत और चीन के सैनिक पेट्रोलिंग के दौरान आमने-सामने आ गए थे और एक-दूसरे से भिड़ गए थे।

Spread the love

चीन बॉर्डर पर अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहा है, आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में जारी सीमा विवाद के बाद अब अरुणाचल प्रदेश में टकराव की खबर है। अरुणाचल प्रदेश में बीते सप्ताह भारत और चीन के सैनिक आमने-सामने आ गए और सीमा विवाद को लेकर एक-दूसरे से भिड़ गए। हालांकि, दोनों पक्षों के बीच बातचीत के बाद मामला सुलझ गया।

वहीँ बता दें कि माना जा रहा है कि पीएलए की सेना ने जब सीमा लांघी तो भारतीय सेना ने चीन के करीब 200 सैनिकों को एलएसी के पास रोके रखा और खदेड़ दिया।सेना के सूत्रों की मानें तो बीते सप्ताह अरुणाचल प्रदेश के तवांग इलाके में भारत और चीन के सैनिक पेट्रोलिंग के दौरान आमने-सामने आ गए थे और एक-दूसरे से भिड़ गए थे। यह घटना पिछले सप्ताह की है।

आपको बता दें कि सेना के सूत्रों ने बताया कि कुछ घंटे तक फिजिकल इंगेजमेंट के बाद तय प्रोटोकॉल के हिसाब से बातचीत के बाद मामले को सुलझा लिया गया। भारत की तरफ किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो यह घटना पिछले सप्ताह वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास बुम ला और यांग्त्से के सीमा दर्रे के बीच हुई थी।

तवांग सेक्टर में भारत और चीन की झड़प की सूचना पर भारतीय पक्ष के सूत्रों ने स्पष्ट किया कि भारत-चीन सीमा का औपचारिक रूप से सीमांकन नहीं किया गया है और इसलिए देशों के बीच एलएसी की धारणा में अंतर है। दोनों देशों के बीच मौजूदा समझौतों और प्रोटोकॉल के पालन से अलग-अलग धारणाओं के इन क्षेत्रों में शांति और शांति संभव हुई है। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि चीन ने घुसपैठ की कोशिश भारतीय बंकरों को नुकसान पहुंचाने के इरादे से की थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button