श्रद्धा के आड़े नहीं आई उम्र, बुजुर्ग सड़क पर लेट-लेट कर पूरा कर रहे 900 किलोमीटर का सफर

जब मन में श्रद्धाभाव होता है तो रास्ता कितना भी मुश्किल हो कट जाता है। श्रद्धा के आगे उम्र, थकान या दूरी कोई मायने नहीं रखती। कुछ ऐसा ही...

जोशीमठ। जब मन में श्रद्धाभाव होता है तो रास्ता कितना भी मुश्किल हो कट जाता है। श्रद्धा के आगे उम्र, थकान या दूरी कोई मायने नहीं रखती। कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है चारधाम यात्रा में। यहां 75 साल के संत त्यागी महाराज बद्रीनाथ धाम के दर्शन को निकले है। वे गाडी, हवाई जहाज या फिर रेल से अपना ये सफर नहीं तय कर रहे हैं। महाराज मुरैना से 900 किलोमीटर का अपना ये सफर तपती सड़क पर लेट-लेट कर पूरा कर रहे हैं।

CHARDHAM YATRA

फिलहाल वे बद्रीनाथ धाम के दूसरे मुख्य पड़ाव पांडुकेश्वर से आगे पहुंच गए हैं। यहां पहुंच कर उन्होंने लगभग 850 किमी. की दूरी तय कर ली है। त्यागी महाराज की इस आस्था को जो भी देख रहा है वो हैरान है और भगवान के दर्शनों के साथ ही उनके भी दर्शन कर रहा है।

शरीर पर हो गए हैं जख्म

इस यात्रा के दौरान त्यागी महाराज के पूरे शरीर पर जख्म हो गए हैं। सड़क पर लेट कर चलने की वजह से उनके पैरों से लेकर पेट तक सभी जगह घाव हो गए हैं। साथ ही तपती सड़क पर चलने की वजह से उनका शरीर कई जगह से झुलस भी गया है लेकिन इस बात से बेखबर वे अपनी भक्ति में लीन भगवान के दर्शनों के लिए लगातार आगे बढ़ते जा रहे हैं।

त्यागी महाराज के साथ आये अन्य भक्तों का भी कहना है कि वे सौभाग्यशाली हैं ‌कि उन्हें महाराज के साथ चारधाम की यात्रा पर पहुंचने का सौभाग्य प्राप्त हो रहा है। बता दें कि त्यागी महराज ने 16 अक्टूबर 2021 को अपनी यात्रा मध्य प्रदेश के मुरैना जिले से की थी और तब से लगातार वे चारधाम की तरफ बढ़ते जा रहे हैं।

Related Articles

Back to top button