Hijab Controversy : हिजाब को लेकर कर्नाटक हाईकोर्ट के फैसले के बाद भड़के मुस्लिम संगठन, किया ये ऐलान

जमीयत उलेमा ए हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि ये फैसला हिजाब के सिलसिले (Hijab Controversy) में इस्लामी शिक्षाओं और शरीयत के आदेशों के अनुसार नहीं है, जो आदेश अनिवार्य होते हैं, उनका उल्लंघन करना गुनाह है।

बेंगलुरु। हिजाब (Hijab Controversy) को लेकर कर्नाटक हाईकोर्ट के फैसले के बाद मुस्लिमों का गुस्सा बढ़ गया है। कोर्ट के फैसले से नाराज मुस्लिम संगठनों ने गुरुवार को कर्नाटक बंद का आह्वान किया है। मुस्लिम उलेमाओं के प्रमुख संगठन जमीयत उलेमा ए हिंद ने कर्नाटक हाइकोर्ट के फ़ैसले पर आपत्ति जताई है। (Karnataka High Court on Hijab)Hijab Controversy - Karnataka High Court on Hijab

जमीयत उलेमा ए हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि ये फैसला हिजाब के सिलसिले (Hijab Controversy) में इस्लामी शिक्षाओं और शरीयत के आदेशों के अनुसार नहीं है, जो आदेश अनिवार्य होते हैं, उनका उल्लंघन करना गुनाह है। परंतु कोई इसका पालन न करे तो इस्लाम से ख़ारिज नहीं होता है, लेकिन वो पापी होकर अल्लाह के अज़ाब और नरक का हक़दार अवश्य होता है। (Karnataka High Court on Hijab)

उन्होंने कहा कि यह कहना कि पर्दा इस्लाम का अभिन्न अंग नहीं है, सरासर ग़लत है। यह लोग ‘अनिवार्य’ का अर्थ यह समझ रहे हैं कि जो व्यक्ति इसका पालन नहीं करेगा वह इस्लाम से खारिज हो जाएगा। हालांकि ऐसा नहीं है। अगर अनिवार्य है तो इसके न करने पर कयामत के दिन अल्लाह के अजाब का हक़दार होगा। (Hijab Controversy)

Hindustan हमारा है हमारे बाप का है बाप के बाप का है और उनके बाप का है!

International News : पहले से कंगाल पाकित्सान अब और परेशान, पांच दिन के लिए बचा है तेल का स्टाक

Festivals मनाने में एक दूसरे के सहयोग की अपील के साथ-साथ डीएम डॉ.आदर्श सिंह ने दिए ये निर्देश

Ukraine Russia War की भयावह तस्वीर, इस वजह से बढी है अमेरिका की टेंशन

The Kashmir Files : कश्मीर में पंडितों से ज्यादा मुसलमानों की ह्त्या हुई – केरल कांग्रेस

Indian Railway info : मध्य रेल मुंबई और मऊ/करमाली/दानापुर और पुणे और करमाली के बीच 14 अतिरिक्त होली

Up Assembly Election 2022 : आज़मगढ़ के स्ट्रांग रूम में बैलेट पेपर ले जाने की कोशिश, रात 10.30 बजे सपाई

iPhone बेहद सस्ते में मिल रहा है, तुरंत करे ऑडर नहीं तो हो जाएगी देर!

Related Articles

Back to top button