26 से एसएसपी कार्यालय पर धरना देंगे किसान.

Spread the love

भारतीय किसान यूनियन तोमर गुट ने किसानों की समस्याओं को लेकर सरकार और प्रशासन को विफल बताते हुए 26 अगस्त से रोशनाबाद स्थित एसएससी के कार्यालय पर पशुओं के साथ अनिश्चितकालीन पंचायत शुरू करने का ऐलान किया है।

शनिवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते हुए भारतीय किसान यूनियन तोमर के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी संजीव तोमर ने कहा कि लक्सर, इकबालपुर, उत्तम शुगर मिल व अन्य मिलों पर गन्ने का करोड़ों रुपए का बकाया है। किसानों का बकाया नहीं दिया जा रहा है जबकि सरकार 200 करोड़ रुपये देने का दावा कर रही है। लेकिन किसानों को सरकार की ओर से जारी बजट से कोई फायदा नहीं हुआ है। इसलिए सरकार को यह देखना चाहिए कि यह 200 करोड़ बजट जारी किया गया था, उसका क्या हुआ। सरकार तीनों कृषि कानून वापस ले। गन्ने का भाव 450 रुपये क्विंटल किया जाए। जिलाध्यक्ष विकेश बालियान ने बताया कि किसानों का पिछले पांच साल से भूमि अधिग्रहण का मुआवजा भी नहीं मिल पा रहा है। क्रेडिट कार्ड को लेकर भी बैंक ज्यादा परेशान कर रहे हैं। कहा बिजली और डीजल के दाम लगातार आसमान छू रहे हैं। कहा कि हर थाने में भ्रष्टाचार चरम पर है। चालान से लेकर हर काम करने के रेट तय हैं। किसानों को कोई राहत नहीं मिल पा रही है, बल्कि उनका उत्पीड़न किया जा रहा है।

शनिवार को प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता करते हुए भारतीय किसान यूनियन तोमर के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी संजीव तोमर ने कहा कि लक्सर, इकबालपुर, उत्तम शुगर मिल व अन्य मिलों पर गन्ने का करोड़ों रुपए का बकाया है। किसानों का बकाया नहीं दिया जा रहा है जबकि सरकार 200 करोड़ रुपये देने का दावा कर रही है। लेकिन किसानों को सरकार की ओर से जारी बजट से कोई फायदा नहीं हुआ है। इसलिए सरकार को यह देखना चाहिए कि यह 200 करोड़ बजट जारी किया गया था, उसका क्या हुआ। सरकार तीनों कृषि कानून वापस ले। गन्ने का भाव 450 रुपये क्विंटल किया जाए। जिलाध्यक्ष विकेश बालियान ने बताया कि किसानों का पिछले पांच साल से भूमि अधिग्रहण का मुआवजा भी नहीं मिल पा रहा है। क्रेडिट कार्ड को लेकर भी बैंक ज्यादा परेशान कर रहे हैं। कहा बिजली और डीजल के दाम लगातार आसमान छू रहे हैं। कहा कि हर थाने में भ्रष्टाचार चरम पर है। चालान से लेकर हर काम करने के रेट तय हैं। किसानों को कोई राहत नहीं मिल पा रही है, बल्कि उनका उत्पीड़न किया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button