सरकारी पैनल ने जाइडस कैडिला की तीन खुराक वाली COVID 19 वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग की मंजूरी की सिफारिश की

Spread the love

 अगस्त 20: कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में भारत को आज एक और हथियार मिल गया। कोरोना महामारी के खिलाफ देश में चल रहे वैक्सीनेशन में अब एक और वैक्सीन जुड़ गई है। सरकार की ओर से जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन को इमरजेंसी अप्रूवल मिल गया है। जायडस कैडिला ने पिछले महीने अपनी कोविड-19 वैक्सीन जायकोव-डी के आपातकालीन उपयोग के लिए भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) से मंजूरी के लिए आवेदन किया था।

जायडस कैडिला की 3 डोज वाली कोरोना वैक्सीन को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। इस वैक्सीन का नाम जायकोव-डी है। ड्रग कंट्रोल जनरल ऑफ इंडिया की एक्सपर्ट कमेटी ने इस वैक्सीन को शुक्रवार को इमरजेंसी यूज की मंजूरी दे दी। समिति ने फार्मा कंपनी से इस वैक्सीन के 2 डोज के प्रभाव का अतिरिक्त डेटा भी मांगा है। सबसे बड़ी बात यह है कि यह वैक्सीन 12 साल और उससे ऊपर के बच्चों को भी लगाई जाएगी। इस तरह देश में जल्द ही 12 साल से ऊपर के बच्चों का वैक्सीनेशन भी शुरू होने वाला है।

कैडिला हेल्थकेयर लिमिटेड के रूप में सूचीबद्ध जेनेरिक दवा निर्माता ने देश भर में 28,000 से अधिक वॉलिंटियर पर टेस्ट किया है। वैक्सीन का एफिकेसी रेट 66.6 प्रतिशत सामने आया था। कैडिला हेल्थकेयर लिमिटेड ने ZyCoV-D के इमरजेंसी यूज की अनुमति के लिए बीती 1 जुलाई को आवेदन किया था। इसने यह भी कहा कि यह टीका 12 से 18 साल के बच्चों के लिए सुरक्षित है। हालांकि अभी तक इसके ट्रायल डेटा का पीयर रिव्यू नहीं किया गया है। जायडस कैडिला की कोरोना वैक्सीन दुनिया की डीएनए बेस्ड पहली कोरोना वैक्सीन है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button